₹2000 के नोटों की छपाई आखिर क्यों बंद कर दी गई है?

₹2000 के नोटों की छपाई आखिर क्यों बंद कर दी गई है?

₹2000 के नोटों की छपाई क्यों बंद कर दी गई है 
भारत में सबसे बड़ा नोट जो कि ₹2000 का नोट है उसकी छपाई पिछले 2 साल से बंद है जिसके कारण एक बार फिर से लोगों के मन में सवाल उठ रहे हैं कि क्या ₹2000 के नोट बंद कर दिए जाएंगे खुद इस पर लोकसभा में सरकार ने माना है कि बीते 2 साल से ₹2000 के नोटों की छपाई नहीं की जा रही है छपाई बंद करने की वजह भी सरकार ने बताई है



वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने संसद में  ₹2000 के नोटों की छपाई को लेकर जानकारी दी है  जिसके मुताबिक रिजर्व बैंक की तरफ से 2019-20 और 2021 में कोई भी नोटों की डिमांड नहीं की गई इसलिए ₹2000 के नोटों की छपाई नहीं की जा रही है  इसके अलावा नोटों की जमाखोरी और काला धन को रोकने के लिए नोटों की छपाई पर रोक लगा दी गई है

दरअसल नोटों की डिमांड और सप्लाई को बनाए रखने के लिए सरकार रिज़र्व बैंक की सलाह पर नोटों की छपाई का फैसला लेती है लेकिन बीते 2 साल में ₹2000 के नोटों के लिए सरकार को कोई भी आर्डर नहीं मिला है छपाई के लिए, 2019 से 2021 ₹2000 के नोट एक भी नोट नहीं छापे गए हैं  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ