Hanuman Ji को China वाले Monkey King के नाम से पूजते हैं?

Hanuman Ji को China वाले Monkey King के नाम से पूजते हैं?

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताएंगे कि क्या हनुमान जी को चाइना वाले Monkey King के नाम से पूजतें हैं-
आज हम आपको बताएंगे कि क्या हनुमान जी को चाइना वाले Monkey King के नाम से पूजतें हैं-


जय श्री राम दोस्तों आज भी हिंदू देवी देवताओं में सबसे शक्तिशाली देवता का नाम लिया जाता है तो उनमें हनुमान जी का नाम जरूर होता है हनुमान जी की शक्ति की कोई अपार सीमा नहीं है रामायण में भी हनुमान जी की शक्ति और भक्ति का बखान किया जाता है कहते हैं ना कि भक्ति में ही असली शक्ति होती है


हनुमान जी भगवान शिव का रूद्र अवतार थे और रामायण में भी हनुमान जी ने अपनी शक्ति को उच्चतम स्तर तक नहीं पहुंचाया नहीं तो इस स्थिति में लंका का विनाश कुछ ही समय में किया जा सकता था और हनुमान जी चाहते तो वह स्वयं ही रावण का वध कर सकते थे हनुमानजी को अमरता का वरदान प्राप्त है और वह कलयुग के अंत तक धरती में विराजमान रहेंगे हनुमान जी हिंदू धर्म के वह महान पात्र है जो आज भी जिंदा है

भगवान शिव के रूद्र अवतार जो श्री राम जी के परम भक्त थे श्री राम जी के बैकुंठ में प्रस्थान करने के बाद हनुमान जी का वर्णन बहुत कम मिलता है लेकिन एक सवाल सबके मन में जरूर होता है कि रामायण के बाद हनुमान जी गए तो गए कहां, और आज हम आपके लिए इतिहास का एक अंश लेकर आए हैं जिसमें हनुमान जी का चीन की ओर प्रस्थान करने का संकेत मिलता है


चीन की तंत्र कथाओं को देखे तो उसमें एक खास प्रकार का कैरेक्टर है बिल्कुल हूबहू हनुमान जी के जैसा मिलता है और इसे चीन में Monkey King के नाम से जाना जाता है वह एक महान वानर था जिसके पास अथाह शक्ति मौजूद थी इस शक्ति से उसने बचपन से ही बड़े बड़े कारनामे कर दिखाएं अगर हम इसका कंपेयर हनुमान जी से करें तो आपको बड़ा आश्चर्य होगा उनकी सकती हो या उनके द्वारा किए गए कार्य आप इतनी सामान्यता पाएंगे कि आपको सोचने पर मजबूर कर देंगे

Monkey King vs Hanuman Ji:

Monkey King अपने आकार को कभी भी छोटा या बड़ा कर सकता था जिस तरह हनुमानजी भी कर सकते थे रामायण में भी हनुमान जी ने अपना आकार छोटा करके लंका में प्रवेश किया था

Monkey King एक ही छलांग में कई किलोमीटर तक की दूरी तय कर लेता था उसकी रफ्तार का कोई मुकाबला नहीं कर सकता था जबकि हनुमान जी के बारे में भी ऐसा कहा जाता है भारत में कई जगह ऐसी है जहां हनुमान जी के पैरों के निशान मौजूद है

लेकिन Monkey King के हथियार के रूप में एक लंबी छड़ी बताई गई है वहीं हनुमान जी हमेशा गधा लिए हुए प्रतीत हुए हैं क्या सच में हनुमान जी रामायण के बाद चीन चले गए थे जहां उनकी कहानियां सुनाई जाती है चीन के प्रसिद्ध इतिहासकार जी सॉलिन पूरी तरह से मानते थे Monkey King और कोई नहीं बल्कि हिंदू धर्म के हनुमानजी थे जिन्होंने चीन में समय बिताया और उनका इतिहास समय के अनुसार चीन में गुजर गया  समय के साथ इतिहास के कई पन्नों को भुला दिया गया और जो बचा वह सबके सामने साक्ष्य के रूप में मौजूद है 

दोस्तों Monkey King के ऊपर चाइना में बहुत सारी फिल्में भी बनाई गई है जिनमें उनकी शक्ति का वर्णन किया गया है दोस्तों आप क्या मानते हैं कि Monkey king हनुमान जी हैं कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें


Post a Comment

0 Comments