हिंदू और हिंदू आस्था का अपमान कब तक सहेगा हिंदुस्तान!

हिंदू और हिंदू आस्था का अपमान कब तक सहेगा हिंदुस्तान!

नमस्कार दोस्तों आजकल बाजार में एक नया पैसा आया है Cool दिखने के लिए, अगर आप किसी भी हिंदू या हिंदू देवी देवताओं का मजाक बनाते हैं तो आपको वामपंथियों की नजर में Cool Person माना जाता है
Tandav वेब सीरीज ने फैलाया हिंदूफोबिया- Tandav web series में जिस प्रकार हिंदू देवी देवताओं का मजाक बनाया गया है और हिंदुओं के धार्मिक भावनाओं को भड़काया गया है और श्री राम वह भगवान शिव का मजाक बनाया गया है उससे तो यही लगता है कि भारत में धीरे-धीरे हिंदूफोबिया बढ़ रहा है Hinduphobia


और हाल ही में ऐसा देखा भी गया है तांडव Web Series में जिस प्रकार हिंदू देवी देवताओं का अपमान किया गया उससे तो यही साबित होता है, भारत में आए दिन हिंदू देवी देवताओं का मजाक बनाया जाता है वामपंथी ओं के द्वारा और बीजेपी की सरकारें भी सिर्फ बोलती हैं और कोई स्ट्रिक्ट एक्शन नहीं लेती हैं 

लेकिन Tandav वेब सीरीज में जिस प्रकार भगवान श्री राम और भगवान भोलेनाथ का मजाक उड़ाया गया उस पर Yogi ji स्ट्रिक्ट एक्शन लिया है और यूपी पुलिस की Kuch Team में मुंबई भेज दी गई है 


Tandav वेब सीरीज ने फैलाया हिंदूफोबिया-
Tandav web series में जिस प्रकार हिंदू देवी देवताओं का मजाक बनाया गया है और हिंदुओं के धार्मिक भावनाओं को भड़काया गया है और श्री राम वह भगवान शिव का मजाक बनाया गया है उससे तो यही लगता है कि भारत में धीरे-धीरे हिंदूफोबिया बढ़ रहा है Hinduphobia.


Tandav वेब सीरीज में कुछ हिंदू भी है लेकिन उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है वह पूरी तरह से वामपंथियों की हाथों बिक चुकी है उन्हें सिर्फ पैसों से मतलब है

वामपंथी और सेकुलरिज्म का का अर्थ--
वामपंथी और सेकुलरिज्म का आसान भाषा में शब्द अर्थ समझे तो वह है हिंदू आस्था का मजाक बनाना, हम इसलिए ऐसा बोल रहे हैं क्योंकि Secular Political Party जब हिंदू आस्था का मजाक बनाया जाता है तो उसको चुप रहते हैं लेकिन वहीं दूसरी तरफ जब कोई विशेष धर्म का मजाक बनाया जाता है तो उसमें सभी लोग ट्विटर पर ट्वीट किए जाते हैं  और यहां तक कि बदले लेने की बात तक करने लगते हैं

कमलेश तिवारी जी जीता जागता उदाहरण है कमलेश तिवारी जी को गला काट किस लिए मार दिया गया क्योंकि वह हिंदू और हिंदू धर्म की बात करता था और वह आर्य समाज का व्यक्ति था 

आजादी आजादी नारे का ट्रेंड कहां से आया--
आपके हमेशा देखा होगा कि वामपंथी लोग और जेएनयू छात्र हमेशा आजादी आजादी के नारे लगाते हैं लेकिन यह नारा कहां से आया आपने कभी नहीं सोचा होगा हम आपको बताते हैं कि यह नारा ट्रेंड में कहां से आया

पाकिस्तान की धरती से इस तरह का जन्म हुआ और इस नारे के चलते आतंकी संगठन कश्मीर की धरती पर आए, और उन्होंने पूरे कश्मीर में इस नारे को बुलंद किया

और इस नारे के चलते उन्होंने पूरे कश्मीर के लोगों को कहा कि आप इस्लाम में कन्वर्ट हो जाओ या फिर कश्मीर को छोड़ दो, इसी नारो के बीच कश्मीर में 18 से 19 जनवरी 1998 के बीच लाइट काट दी गई थी सिर्फ मिलना मस्जिदों में राइट थे जिससे फ्रांस में किया जा रहा था कि कश्मीरी हिंदू अपना घर छोड़ दे या फिर इस्लाम को एक्सेप्ट कर ले 


अगर हम इन नारों का मतलब निकाले तो यह नारे इतनी खतरनाक थे कि लाखों हिंदू समाज के लोग कश्मीर से बेघर हो गए बहुत लोगों का कत्ल हो गया के अलावा भारत के एक हिस्से को यहीं नारो ने टूटने के कगार पर पहुंचा दिया था और एक वेब सीरीज आती है जो इन्हीं नारो रोमांटिसाइज कर देती है और यह वेब सीरीज वह लोग बनाते हैं जो खुद को भारत का एक जिम्मेदार नागरिक बताते हैं. 


हिंदू आस्था का अपमान कब तक सहेगा हिंदुस्तान-
जिस तरह हिंदुओं को लगातार Bollywood me टारगेट करके उनकी आस्था का अपमान किया जा रहा है वहीं दूसरे पक्ष के धर्म को बहुत ही शांतिपूर्ण धन बताया जा रहा है यह तो साफ संदेश दिया जा रहा है कि भारत में Hinduphobia फैल चुका है

जीशान अय्यूब एक मुसलमान है और Tandav Web series Me भगवान शिव का रोल अदा किया है और उसका मजाक बना रहा है, Pk Movie Me Amir खान ने हिंदू देवी देवताओं का मजाक उड़ाया और बहुत सारी बॉलीवुड मूवी हैं जिनमें हिंदूफोबिया फैलाया गया लेकिन हिंदुओं ने कभी भी कुछ नहीं कहा

यदि अगर एक विशेष धर्म, शांतिपूर्ण धर्म को कोई कुछ बोल देता है तो उसका गला धड़ से अलग कर दिया जाता है, एक पोस्टर निकाल दिया जाता है तो गला धड़ से अलग कर दिया जाता है यदि कोई इस्लामिकphobia की बातें करता है तो उसका गला धड़ से अलग कर दिया जाता है

और हमारे भारत देश के तथाकथित पत्रकार बॉलीवुड के बड़े-बड़े एक्टर चुपचाप देखते हैं और उनके मुंह से कुछ तक नहीं निकलता 





Post a Comment

0 Comments