आ गया Made In India Play Store, Google Play Store And Apple Play Store से निर्भरता होगी खत्म

आ गया Made In India Play Store, Google Play Store And Apple Play Store से निर्भरता होगी खत्म

Made in India Play Store-

Google Play Store and Apple Play Store के बारे में आप तो जानते ही होंगे हर दिन आप यहां पर ढेरों ऐप डाउनलोड करते हैं और अपने फोन को रंगीन बनाते हैं लेकिन कितना अच्छा हो कि देश का खुद एक प्लेस्टोर हो और apko Google Paly Stor और Apple Play Store पर निर्भर होना पड़े

Made in India Play Store-


जी हां इसी निर्भरता को आत्मनिर्भरता में बदलने के लिए सरकार एक खुद का Indian Apps Store लॉन्च कर सकती है यह Made In India Play Store होगा जो Google Play Store, Apple Play Store का अल्टरनेटिव होगा 


इंडिया में करीब 50 करोड़ लोग स्मार्ट फोन यूज करते हैं स्मार्टफोन का मतलब यह है कि आपके पास वह सभी एक्सेस है जिससे आप Apps Download करते हैं

यदि आपको Apps Download करना है तो आपके पास दो ही ऑप्शन होते हैं Google Play Store और Apple Play Store  और इसी वजह से यह दोनों प्लेटफार्म पूरी मार्केट को नॉमिनेट करते हैं


हालांकि एप्स को डेवलपर इन प्लेटफार्म में अवेलेबल कराते हैं लेकिन इन डेवलपर्स को चाहते या ना चाहते हुए भी Google, apple Play Store की पॉलिसी का पालन करना पड़ता है


आपको याद ही होगा कि कैसे Google Play Store ने पिछले दिनों Paytm को हटा दिया था इसके बाद Google Pay और Paytm कॉन्ट्रोवर्सी शुरू हो गई थी Paytm ने यहां तक कह दिया था कि Google निर्भर भारत है आत्मनिर्भर नहीं क्योंकि Apps Store पर Google अपनी मनमानी करता है


इस Issue के बाद परमानेंट इंडियन स्टार्टअप अब Indian Apps Store की आइडिया को Push कर रहे हैं जहां पर एक Indian स्पेसिफिक System होगा जहां पर Google Play Store को भी प्लेटफार्म मिलेगा और इससे google paly store and apple play store पर निर्भरता कम होगी आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने भी एक ट्वीट में ऐसी बात  किया है और इंडियन प्ले स्टोर की बात कही है


गूगल ने  पिछले हफ्ते अपने ब्लॉग पोस्ट शेयर किया था जिसमें उसने कहा था कि  प्ले स्टोर पर मौजूद हर एप्स को अपनी कमाई का 30% गूगल को देना होगा वैसे एक पल भी अपने प्ले स्टोर पर 30 परसेंट का कमीशन लेता है


इंडियन डेवलपर यही चाहते हैं कि खुद Made In India Play Store हो जिससे डेवलपर्स को अपनी कमाई का इतना बड़ा हिस्सा किसी को ना देना पड़े


Post a Comment

0 Comments