रात 3 से 5 बजे नींद खुलने का क्या मतलब है?

रात 3 से 5 बजे नींद खुलने का क्या मतलब है?

रात 3 से 5 बजे नींद खुलने का क्या मतलब है?
रात 3 से 5 बजे नींद खुलने का क्या मतलब है?


यदि आप की आंख 3:00 से 5:00 के बीच खुलती है तो यह एक दिव्य शक्ति का संकेत माना जाता है जी हां ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि आपकी आंख रात 3:00 से 5:00 के बीच खुलती है  दैवीय शक्तियों का संकेत होता है कि आप उठ जाइए, स्वयं को जानिए कि आप कौन हैं इस सृष्टि में आप क्यों आए हैं पैसे कमाने के लिए या फिर अपनी जिम्मेदारियां पूरी करने के लिए या भौतिक सुखों का आनंद लेने के लिए या फिर यश प्रतिष्ठा मान सम्मान के लिए!

आपको बता दें कि यदि आपकी आंखें रात को 3:00 से 5:00 के बीच खुलती है तो आपको प्रकृति ने चुना है जी हां पैसा कमाना अपनी जरूरतों को पूरा करना तो सभी लोग करते हैं यह कार्य तो सभी अच्छे बुरे लोग करते हैं किंतु जीवन में यश मान प्रतिष्ठा प्राप्त करते हुए लोगों की सहायता करने में दैवी शक्तियां बहुत कम लोगों को चुनती हैं और जिन लोगों की रात 3:00 से 5:00 के बीच नींद खुलती है यह लोग उन्हीं में से होते हैं

सामान्य भाषा में समझे तो जिन लोगों की रात 3:00 से 5:00 बजे की भी नहीं खुलती है उन्हें सोने के लिए नहीं भेजा गया है  संपूर्ण पृथ्वी 13 प्रतिशत लोगों में से आप भी उसी में से हैं जिनसे दिव्य शक्तियां कुछ उम्मीद रखती हैं आपके द्वारा लोगों का कल्याण कराना चाहती है!
रात 3 से 5 बजे नींद खुलने का क्या मतलब है?


बात नहीं आती है कि दिव्य शक्ति ने उन 13% लोगों में से आपको क्यों चुना  दोस्तों आप लोग जानते ही होंगे कि 24 घंटे में रात के 3:00 से 5:00 बजे बीज की बेला को अमृत बेला कहा जाता है जिसे ब्रह्म मुहूर्त भी कहा जाता है यह पूरे दिन का वह समय होता है जब पृथ्वी पर अमृत वर्षा की जाती है आपको यह बात भी पता होगी कि ऋषि मुनि प्रातः काल संध्या किया करते थे और फल स्वरुप उनकी वाणी के अंदर इतना तेज होता था कि जिसको जो आशीर्वाद देते थे वह पूर्ण हो जाता था

ब्रह्म मुहूर्त की बेला सच में ही अमृतवेला होती है और आप इसे खुद ही Dekh सकते हैं प्रातः पेड़ पौधे पक्षी जीव जंतु, नदी तालाब कितने प्रसन्न में दिखते हैं यदि आप सब मोह माया छोड़ कर कभी इस नेचर को फील किया होगा तो आप भली-भांति जानते होंगे कि ब्रह्म मुहूर्त में सच में ही अमृत वर्षा होती है और यदि आप इस अमृतवेला में उठते हैं तो यकीन मानिए आपको भी अमृत वर्षा का फायदा होता है और आपके अंदर इतनी पॉजिटिव एनर्जी आ जाती है कि आपकी पॉजिटिव एनर्जी आपके घर, ऑफिस और जहां जहां आप जाते हैं उस स्थान को एक पॉजिटिव एनर्जी प्रदान कर देता है और आपको व आपके पूरे परिवार को खुशहाल बना देता है


यदि आप रात से 3:00 से 5:00 के बीच उठ जाते हैं तो आप शौच आदि चीजों से निवृत होकर ध्यान मुद्रा में बैठ चाहिए और अपनी बॉडी को बिल्कुल रिलैक्स होने दे समाज परिवार जिम्मेदारियां धन दौलत से परे होकर यह समय बिल्कुल अपने आप को दें लंबी लंबी सांसे लीजिए और बाहर निकालते वक्त यह सोचे कि मेरे अंदर की नेगेटिविटी बाहर जा रही है और जब अंदर की ओर ले तो यह सोचे कि ब्रह्म मुहूर्त में दिव्य शक्तियों द्वारा बांटने वाला प्रसाद शरीर के अंदर ग्रहण हो रहा है शरीर से सारे विकार बाहर निकलते हुए सिर्फ और सिर्फ उर्जा का  वास हो रहा है


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ