20.4 लाख किसानों को मिलेगा हर साल 36000 रुपए पेंशन, जानिए इसके बारे में PM Kisan Pension Yojana

20.4 लाख किसानों को मिलेगा हर साल 36000 रुपए पेंशन, जानिए इसके बारे में PM Kisan Pension Yojana

Modi Goverment Desh के 20 Lakh 41 हजार किसानों को सालाना 36000 रुपये पेंशन देगी। देश की पहली प्रधानमंत्री Kisan Pension Yojana यानि प्रधानमंत्री Kisan Yojana में Itne Logo ने Apna पंजीकरण करवा लिया है। इनमें 6 Lakh 38 हजार से ज्यादा महिलाएं भी शामिल हैं। यह Yojana उन किसानों के लिए बहुत काम की है जो keval kheti पर निर्भर हैं। खासकर गरीब किसानों के  liye jinke pass आजीविका का कोई Dusra साधन नहीं है।
20.4 लाख किसानों को मिलेगा हर साल 36000 रुपए पेंशन, जानिए इसके बारे में PM Kisan Pension Yojana

इस Yojana के तहत, हरियाणा के साढ़े चार लाख किसानों ने पंजीकरण कराया है। दूसरे number पर बिहार है, जहां 3 लाख किसान अपनी वृद्धावस्था को सुरक्षित करना चाहते हैं। झारखंड और UP में करीब ढाई लाख लोग पंजीकृत हैं। 26 से 35 साल के अधिकांश किसानों ने PM Kisan मनधन योजना का लाभ लेने में रुचि दिखाई है।


कितना पैसा खर्च करना पड़ेगा

Kisan Pension yojna 18 से 40 वर्ष की आयु के छोटे और सीमांत किसानों के लिए है। केवल 5 एकड़ खेती योग्य भूमि होनी चाहिए। उन्हें yojna के तहत न्यूनतम 20 साल के लिए मासिक 55 रुपये से 200 Rupay और अधिकतम 40 साल तक योगदान करना होगा, जो unki उम्र पर निर्भर है। Agar Aap 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं, तो मासिक योगदान 55 रुपये या 660 रुपये सालाना होगा। वहीं, अगर आप 40 साल की उम्र में शामिल होते हैं, तो आपको 200 रुपये महीने या 2400 रुपये सालाना का योगदान देना होगा।


जानिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के बारे में

PM Kisan Pension योजना का लाभ पाने के लिए किसानों को कॉमन Service centre (CSC) पर जाकर अपना पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण के लिए आधार कार्ड, भूमि दस्तावेज की प्रति, 2 Photo और Bank Passbook की आवश्यकता होगी। पंजीकरण के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा। kisan की pension का uniq number और pension card बनाया जाएगा।

राष्ट्रीय पेंशन योजना, कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) योजना और कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफओ) में शामिल होने वाले पात्र नहीं होंगे। किसान को 60 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद ही 3000 रुपये प्रति माह पेंशन के रूप में मिलेगा। पॉलिसी धारक किसान की मृत्यु के बाद, उसकी पत्नी को 50 प्रतिशत राशि मिलती रहेगी।

यदि कोई Kisan इस योजना को बीच में छोड़ना चाहता है, तो उसका पैसा नष्ट नहीं होगा। जब तक वह स्कीम छोड़ देगा, तब तक जो पैसा जमा होगा, उसे बैंकों के बचत खाते के बराबर ब्याज मिलेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ