WHO और china पर बरसेगा कहर

WHO और china पर बरसेगा कहर

Coronavirus को दुनिया भर में फैलाने के लिए चीन को जिम्मेदार मानते हुए अमेरिका ने एक बार फिर उस पर हमला बोला है अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस बार भी WHO और चीन को आड़े हाथों लिया

व्हाइट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान WHO पर हमला बोलते हुए ट्रंप ने कहा-WHO को शर्म आनी चाहिए क्योंकि वह चीन के लिए एक पब्लिक रिलेशन एजेंसी की तरह है राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की है बात WHO की साख पर सवाल खड़े करती है क्या सच में WHO ने china का पक्ष लेते हुए coronavirus से जुड़ी जानकारी को दुनिया से छिपाया और china को बचाया

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के द्वारा चीन पर लगातार हमले जारी है और यह कोई पहला मौका भी नहीं है जब ट्रंप ने WHO और china को लेकर निशाना साधा हो इसके पहले भी ट्रंप ने WHO पर चीन का पक्ष लेने और coronavirus से जुड़ी जानकारियों को छुपाने का आरोप लगाया है यहां तक कि उन्होंने कोरोना वायरस को चीनी virus तक कह डाला था

राष्ट्रपति ट्रंप ने यह भी कहा था कि china, corona वायरस फैलाने से रोक सकता था लेकिन चीन ने ऐसा नहीं किया वहीं अमेरिका अपने साथ कई देशों को जोड़ने की कोशिश कर रहा है ट्रंप तो चीन पर टैरिफ लगाने की भी बात कर रहे हैं जिससे अमेरिका में हुए नुकसान वह वसूल सके ऐसा ही कुछ और देश भी सोच रहे हैं

लेकिन इन सब तनातनी के बीच भारत किसी एक पक्ष के साथ जाने को तैयार नहीं है भारत में पहले भी कोरोनावायरस को चीनी वायरस कहने से इनकार किया था भारत का साफ कहना है कि उसका अभी पूरा ध्यान इस वैश्विक महामारी से लड़ने में लगा हुआ है ऐसे में आने वाले दिनों में भारत जिस पक्ष के साथ खड़ा होगा जाहिर तौर पर भारी हो जाएगा.

चीन के वुहान शहर से निकलकर दुनिया भर के देशों को अपनी चपेट में लेने वाले corona वायरस ने अब तक कई लाख लोगों को मौत की नींद सुला चुका भारत पर भी इसका असर लगातार बढ़ता जा रहा है माना कि भारत अब भी मजबूती के साथ खड़ा हुआ है साथ ही दूसरे देशों में फंसे भारतीयों को लाने का सिलसिला शुरू किया जा रहा है अबे सबको इंतजार है 3 मई का, की 3 मई के बाद सरकार क्या फैसला लेती!

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ