अब खुद WHO ने भी माना, china के Wuhan से निकला coronavirus

अब खुद WHO ने भी माना, china के Wuhan से निकला coronavirus

अब खुद WHO ने भी माना, china के Wuhan से निकला coronavirus

अमेरिका सहित कई देश बार-बार कहते रहे हैं corona virus के पीछे चाइना का हाथ है coronavirus को लेकर सारी दुनिया चाइना पर आरोप लगाती रही कि वह अपने यहां वायरस को समय पर नहीं रोका और इसके संक्रमण से पूरी दुनिया को अंधेरे में रखा

विश्व स्वास्थ संगठन पर भी चाइना का पक्ष लेने का आरोप लगता रहा दुनिया के दावों को दरकिनार कर डब्ल्यूएचओ ने
Corona के खिलाफ चाइना के कदमों की लगातार तारीफ करता रहा हालांकि अब WHO ने भी माना कि वह wuhan की मार्केट में कोरोना वायरस फैलाने की भूमिका रही है जिस बात को पूरी दुनिया कह रही थी उस पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मुहर लगा दी है

दुनिया डब्ल्यूएचओ के सामने जो सबसे बड़ी चुनौती है कोविड-19, corona की वजह से लगातार मौतें और फैल रहे संक्रमण तो परेशानी है ही लेकिन उससे ही बड़ा सवाल बीते 4 महीने में एपीडब्ल्यू से की बदलती भूमिका और बदलते जवाब क्योंकि बीते 4 महीनों में चाइना की कोशिशों की तारीफ करता डब्ल्यूएचओ अब कोरोना के पैदा होने व फैलने में चीन के वुहान का हाथ मान रहा है

कोरोना पर डब्ल्यूएचओ की नई थ्योरी

डब्ल्यूएचओ के डॉक्टर पीटर बेन एंब्रॉयड ने कहा कि यह साफ है कि मार्केट में इस इवेंट में भूमिका निभाई है लेकिन भूमिका क्या है यह हमें नहीं पता.. क्या यह वायरस का स्तोत्र था या फिर यहां से बड़ा या फिर कुछ इत्तेफाक है कि कुछ केस मार्केट के अंदर या आस पास पाए गए
चाइना ने जनवरी में ही इस बारिश को रोकने के लिए बुहान मार्केट को बंद कर दिया था विश्व संगठन ने इस बात को और पुख्ता करने के लिए इस दिशा में और रिसर्च की बात कहीं पीटर ने कहा कि यह बात साफ नहीं हो चुकी कि जिंदा जानवरों या इनफेक्टेड दुकानदारों या खरीददारों में से कौन इस वायरस को मार्केट में लाया

विश्व स्वास्थ संगठन पर भी चाइना का पक्ष लेने का आरोप लगता रहा लेकिन अब डब्ल्यूएचओ की ओर से कहां जा रहा है कि चाइना इसमें और सफाई से जांच कर सकता है यानी कि इतना तो साफ हो गया कि कोरोना वायरस चाइना के वुहान से ही निकला था लेकिन सवाल ये उठता है कि विश्वास संगठन को मानेने में यह बात इतनी देर क्यों लगी कि वुहान से ही कोरोना वायरस निकला था जबकि पूरी दुनिया बोलती ही रही यहां तक कि चाइना की तरफदारी का आरोप लगाकर विश्वास संगठन का बजट अमेरिका ने रोक दिया था

डब्ल्यूएचओ को बचाते हुए फिर चाइना की मीट मार्केट को निशाने पर लेना कई सवाल खड़े कर रहा है इन सब में खास बात है कि चाइना सच बोल रहा है या फिर गए कि अमेरिका के विरोध के बाद डब्ल्यूएचओ की कोई नई चाल है

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोनावायरस चलाने के लिए साफ तौर पर चीन को जिम्मेदार ठहराया है अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि इस बात का पूरा सबूत है कि कोरोना वायरस चीन के वुहान के किसी लैब से फैला है

डब्ल्यूएचओ किस बयान से साफ हो गया कि कोरोना वायरस फैलाने में चीन की महान मार्केट का हाथ था लेकिन क्या आप लोग जानते हैं कि चाइना के जवान मार्केट पर कोरोना वायरस फैलाने के आरोप लग रहे हैं वहां किस तरह की जानवर बिकते हैं

पिछले साल नवंबर में करो ना यार उसका पहला केस यहां की मांस मार्केट में आया था वायरस धीरे-धीरे इंसानों में फैल गया था करीब 2 महीने लॉकडाउन के बाद 7 अप्रैल को चीन ने कोरोना वायरस का जीत का जश्न मनाया था और दुबारा मीट मार्केट पहले की तरह ही शुरू किया

 मांस की इस मंडी में चमगादड़ कुत्ते ऊंट, भेडिये का बच्चा सांप गिलहरी चूहा लोमड़ी सीगट कछुए घड़ियाल घोड़ा और कई सारे जानवर अवैध रूप से पिंजरे में बंद बिकने के लिए मिलते हैं गंदगी और रखरखाव की वजह से वायरस या बैक्टीरिया इंसान में पहुंच जाता है यही कारण है कि वुहान के मीट मार्केट को और उसके आसपास क्षेत्र को बंद कर दिया गया था अब तो डब्ल्यूएचओ ने भी कह दिया कि कोरोना वायरस इसी मार्केट से निकला था या गया था

चीन में है मार्केट राजस्व का बड़ा सोत्र है एक अनुमान के मुताबिक यह व्यापार सालाना 54.9 खराब रुपए का टर्नओवर वाला है शायद यही वजह है कि हांगकांग थाईलैंड के नेता इसे बंद करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाते हैं सिर्फ वुहान ही नहीं चाइना के कई जगहों पर इस तरह मार्केट उपलब्ध है मार्केट में बड़े शौक से लोग इन जानवरों के मांस को खरीदने के लिए पहुंचते हैं दोस्तों चीन के मीट मार्केट में दुनिया का पैदा होने वाला हर जानवर बिकता है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ