विदेशी कंपनियों को लुभाने के लिए UP तैयार बनेगा mini japan

विदेशी कंपनियों को लुभाने के लिए UP तैयार बनेगा mini japan

अब भले ही चीन अपने देश में corona उत्पत्ति की जांच के लिए तैयार हो गया हो लेकिन फिर अभी अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जैसे कई देश चीन से अपना कारोबार खत्म कर देना चाहते हैं अपने लिए किसी भरोसेमंद साथी की तलाश में है

ऐसे में भारत के सामने एक मौका है कंपनियों को भारत में निवेश के लिए लुभाने का इस सूची में अब जापान और साउथ कोरिया भी शामिल हो गए यह कंपनियां अपनी मैन्युफैक्चरिंग को भारत में लाने के लिए तैयारी कर रही है

 योगी सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि अगर यह कंपनियां भारत आ रही है तो इनका ठिकाना अब यूपी है इस काम के लिए यूपी सरकार सक्रिय हो गई है इसको लेकर जब मंत्री सतीश महाना से बात की गई तो उन्होंने बताया कि-

जब चीन छोड़कर विदेशी कंपनियां भारत आएंगी तो जाहिर तौर पर राज्यों के बीच इसको लेकर प्रतिस्पर्धा होगी लेकिन हमारा फोकस एडवांस यूपी बनाने के लिए होगा हम यूपी के एडवांटेज को शोकस करेंगे सबसे बड़ा एडवांटेज हमारा कंजूमर Base हमारे पास डेडीकेटेड कॉरिडोर है एनसीआर जैसे महत्वपूर्ण राजधानी का बड़ा हिस्सा हमारे देश में हैं और आगे कहा कि हमारे पास फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री आए तो कई चीजों की पैदावार हमारी यूपी में अच्छी है जैसे दूध उत्पादन में हम नंबर वन हैं

हाल ही में जापान सरकार ने 2.2 अरब डॉलर का fund बनाया है जिसका मकसद है चीन से हटने वाली विदेशी कंपनियों को दूसरे देश पर लोकेट करने में मदद करना UP सरकार चाहती है कि जो फंड जापान ने लागू किया है उसका ज्यादा से ज्यादा हिस्सा यूपी सरकार में आए

इसके लिए यूपी सरकार जापान अमेरिका दक्षिण कोरिया जैसे कई Desk बना रही है Desk का काम होगा विभिन्न ने लोगों की जरूरतों पर बात कर उनकी जरूरतों पर काम करना 
जैसे जापान को यूपी में मिनी जापान बनाने के लिए सुविधा उपलब्ध कराई जाए, 2 से 3000 एकड़ में टाउनशिप बनाने के लिए कहां जाए क्योंकि जापान का फोकस टैक्स छूट में कम बल्कि अपने कर्मचारियों के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए ज्यादा होता है!

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ