Rahul gandhi ने media से lockdown, modi goverment की corona पॉलिसी पर बात की

Rahul gandhi ने media से lockdown, modi goverment की corona पॉलिसी पर बात की

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 8 मई को प्रेस कॉन्फ्रेंस की वीडियो कॉलिंग ऐप zoom के जरिए media कर्मियों से जुड़े और उनसे बात की.

राहुल गांधी ने कहा कि देश की इकॉनमी को पटरी पर लाने के लिए सबसे पहले सबके मन में जो coronavirus का डर बैठा है उसको दूर करना पड़ेगा तभी वह सामान्य जीवन की ओर लौटेंगे और तभी अर्थव्यवस्था पटरी पर आएगी

राहुल ने कहा सरकार को यह बात लोगों तक पहुंचानी होगी कि कोविड-19 सबके लिए जानलेवा नहीं है यह केवल 1 से 2 फीसदी लोगों के लिए ही जानलेवा है जिनको डायबिटीज है जिनको लंग की प्रॉब्लम है जिनकी इम्युनिटी पावर कमजोर है उनके लिए खतरा है बाकी लोगों को यकीनन एहतियात बरतने की जरूरत है लेकिन उनकी जान नहीं जाने वाली है जब तक यह बात लोगों तक नहीं पहुंचेगी आप लॉक डाउन हटा भी ले तब भी लोग घरों से बाहर नहीं निकलेंगे

 रेड जोन और ऑरेंज जोन पर राहुल गांधी ने कहा कि मैं समझता हूं प्रधानमंत्री जी का काम करने का एक तरीका है लेकिन इस समय लीडरशिप को डिसेंट्रलाइज करने की जरूरत है हमें मजबूत प्रधानमंत्री नहीं बल्कि कई सारे मजबूत मुख्यमंत्री और कई सारे मजबूत अधिकारियों की जरूरत है छोटे से छोटे लेवल पर भी इन इंफेक्शन को रोकना होगा

इस बात को आगे बढ़ाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार ने रेड ग्रीन ऑरेंज जोन को अपने स्तर पर तय कर दिया लेकिन अब राज्यों से जो पुट आ रहा है उनके अनुसार जिसे रेड जोन बनाया गया असल में वह ग्रीन जोन है और जिसे ग्रीन जोन बनाया गया असल में वह रेड जोन है असल में जोन तैयार करने का अधिकार राज्यों और डीएम के पास होना चाहिए

राहुल गांधी ने आगे कहा कि सरकार को 17 मई के बाद लॉकडाउन खोलने की योजना पर काम करना चाहिए लॉकडाउन कोई परमानेंट सलूशन नहीं है राहुल ने कहा कि कांग्रेस की न्याय योजना को सरकार को स्वीकार करना चाहिए भले ही उसका नाम बदलकर आप कुछ भी रख लें लेकिन गरीब किसानों के खाते में सीधा पैसा डालना चाहिए इसमें 65000 करोड रुपए का खर्च आ रहा है

राहुल गांधी ने आरोग्य सेतु एप पर भी बात की उन्होंने कहा कि इसे ओपन सोर्स कर देना चाहिए सिंगापुर में सरकारी ऐप है लेकिन वह open-source है राहुल ने कहा सरकार सोच रही है कि तेजी से पैसा खर्च करना शुरू कर दिया अभी से तो रुपया की वैल्यू घट जाएगी लेकिन इस वक्त रिक्स तो लेना ही होगा लोगों के हाथ में पैसा पहुंचाना, मौके पैदा करना यह जरूरी है इसके अलावा उन्होंने कहा यह लड़ाई लंबी है जिसे पीएमओ से नहीं लड़ी जा सकती इसमें जिले भी शामिल करना होगा राहुल गांधी 7 मई को प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले थे लेकिन विशाखापट्टनम गैस कांड के कारण उन्हें 1 दिन के लिए टाल देना पड़ा और 8 मई को उन्होंने मीडिया से बात की

Post a Comment

0 Comments