Ladakh border tension: LAC की satellite तस्वीरों से खुलासा, क्या india से युद्ध करना चाहता है china.

Ladakh border tension: LAC की satellite तस्वीरों से खुलासा, क्या india से युद्ध करना चाहता है china.

1. भारत-चीन तनाव के बीच सेटेलाइट से बड़ा खुलासा
2. नियंत्रण रेखा पर दिखे टैंक तोफें फिर और सैन्य उपकरण
3. युद्ध की तैयारी कर रहा है चीन

इस समय भारत और चीन के बीच सीमा विवाद चरम पर है  पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के आसपास भारतीय और चीनी सेना के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है

भारत ने गुरुवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध को सुलझाने के लिए वह चीन के साथ सैन्य और राजनीतिक स्तर पर बातचीत कर रहा है चीन का भी कहना है कि बॉर्डर पर स्थिति स्थिर है और सब कुछ कंट्रोल पर है

लेकिन एक तरफ चीन स्थिति के समान होने की बात कर रहा है वही वास्तविक नियंत्रण के पास सेटेलाइट की तस्वीरें ने चीन के दोहरे चरित्र का पर्दाफाश किया है

सेटेलाइट की तस्वीर से साफ हुआ है कि चीन बॉर्डर पर सेना की तैनाती और मजबूत कर रहा है ऐसा लगता है कि वह युद्ध की तैयारी कर रहा है इस इलाके में काफी संख्या में सुरक्षाबल हेलीपैड,तोफें, पावर प्लांट यूनिट और बड़ी ट्रक देखी गई हैं सैटेलाइट की तस्वीरों यह भी साफ हुआ है कि चीन ने  लड़ाकू विमान का परिचालन तेज कर दिया है

इतना ही नहीं हाल के दिनों में यहां प्लानिंग की जा चुकी है मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नियंत्रण रेखा के पास चीन बकंर तैयार कर रहा है और जमीन के अंदर मशीन गन लगाते दिखाई दे रहा है

वहीं चीन के सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स में कहा गया है कि चीन की तरफ से सीमा पर अनन्वेंट एयर व्हीकल यानी ड्रोन लगाए जाएंगे जो सैनिक परीक्षण कम्युनिकेशन इलेक्ट्रॉनिक और ऊंचाई से फायर स्ट्रोक जैसे मिशन को अंजाम देने में कारगर होगा विशेषज्ञों का कहना है कि यह चीन का दोहरा चरित्र दर्शाता है इससे पहले चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कहा था कि सीमा पर इस समय स्थिति बिल्कुल भी सामान्य है और सब कुछ कंट्रोल में है कुछ ऐसा ही बयान गुरुवार को चीन के रक्षा मंत्रालय की तरफ से भी आया था

चीन के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक- चीन भारत सीमा पर चीन की स्थिति स्पष्ट है चीनी सीमा सैनिक सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है वर्तमान में चीन भारत सीमा क्षेत्र में स्थिति पूरी तरह से स्थिर और नियंत्रण में है

खाना की चीन की ओर से शक्ति प्रदर्शन को देखते हुए भारत ने भी फैसला किया है कि सड़क बनाने का काम जारी रहेगा और भारत भी उतना ही सैन्य बल सीमा पर बढ़ाएगा जितना चीन करेगा, भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में चीन के आक्रमक व्यवहार को मजबूती से रोकने के लिए रणनीति के तहत एक ओर जहां सैनिक और सैन्य उपकरण भेजे हैं वहीं दूसरी तरफ सैन्य कमांडरों ने स्थिति पर लगातार चर्चा कीं

तनाव क्यों बढ़ा है
दरअसल भारत भी अब चीन की तरह बॉर्डर इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा दे रहा है इसके तहत सड़क व एयरवेज जैसी कई रणनीति परियोजनाओं पर काम किया जा रहा है यही बात चीन को रास नहीं आ रही, चीन के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों ने चीनी इलाके में निर्माण करने की कोशिश की है जबकि भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान में साफ किया कि भारतीय सैनिक जो भी कर रहे हैं वह अपने इलाके में कर रहे हैं

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीनी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्रों में घुसने की कोशिश की लेकिन भारतीय सैनिकों ने उनको रोक दिया पूर्वी लद्दाख में 5 मई को 250 चीनी सैनिक और भारतीय जवान आपस में भिड़ गए इसके बाद उत्तरी सिक्किम में 9 मई को भारतीय चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई जिनमें कई सैनिक घायल हुए इन झड़पों के बाद लद्दाख में पैगोंग लेक और गलवान घाटी तनाव का केंद्र है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ