अब Huawei कंपनी के पर कतरने को तैयार ब्रिटेन

अब Huawei कंपनी के पर कतरने को तैयार ब्रिटेन

चीन की Huawei कंपनी की मुसीबत खत्म होने का नाम नहीं ले रही है अमेरिका के बाद अब ब्रिटेन ने भी huawei के पर कतरने की तैयारी कर ली है

दरअसल ब्रिटेन में कोरोनावायरस महामारी के बीच 5G नेटवर्क में चीन की कंपनी huawei की भागीदारी कम करने की तैयारी चल रही ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन इस तरह की तैयारी बना रहे हैं

ब्रिटेन के एक अखबार के मुताबिक जॉनसन ने  अधिकारियों को आदेश दिया कि 2023 तक दूरसंचार में चीन की भागीदारी को शून्य पर लाने की योजना पर कार्य करें
 बोरिस जॉनसन चीन के साथ संबंध बनाए रखना चाहते हैं लेकिन huawei कंपनी की हिस्सेदारी बड़े स्तर पर कम होने वाली है उन्होंने इस मुद्दे पर अपने सांसदों से परामर्श किया है यह सोता है महामारी से पहले ही हुआ था लेकिन अब corona वायरस महामारी ने अब सब बदल दिया है

यानी अब ब्रिटेन टेलीकॉम में चीन का नामोनिशान मिटाए जाने की तैयारी चल रही है यह कदम ऐसे समय पर उठाया जा रहा है जब अमेरिका 5G नेटवर्क पर भागीदारी के जरिए जासूसी करने को लेकर चीन के खिलाफ सख्त रवैया अपना रहा है

कुछ दिन पहले ही अमेरिका ने huawei सहित सभी विदेशी कंपनियों पर प्रतिबंध लगा दिया है अमेरिका ने पहले इसकी अमेरिकी निर्यात पर प्रतिबंध लगाया था अमेरिकी मंत्रालय का कहना है कि huawei भरोसा करने लायक कंपनी नहीं है यह चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का एक उपकरण है अमेरिकी सरकार ने 2019 में huawei में प्रतिबंध लगाया था और इसे एंटिटी सूची में शामिल किया था 

अमेरिकी सरकार चाहती है कि चीनी टेलीकॉम huawei कंपनी किसी तरह से अमेरिका पर कारोबार ना कर पाए ट्रंप प्रशासन ने हालिया समय पर huawei के खिलाफ शक्ति बढ़ाई है huawei के कारोबार करने पर पूरी तरह से रोक है huawei टेक्नोलॉजी को आगे बढ़ाने पर मशहूर है लेकिन अमेरिकी सरकार का कहना है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के लोग अपने हितों के लिए इस कंपनी का उपयोग कर रहे हैं

 अमेरिका के फेडरल रजिस्टर के मुताबिक huawei और इसके सहयोगी कंपनियां अमेरिका के राष्ट्रीय हितों पर जोखिम पैदा करती हैं  इस सूची पर huawei इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को भी शामिल किया गया है अमेरिका के जस्टिस विभाग ने यहां तक आरोप लगाया है कि huawei कंपनी टेक्नोलॉजी को चोरी करती रही है और उसने ईरान की मदद की जिस पर प्रतिबंध लगाया गया है

अमेरिका के huawei पर प्रतिबंध लगाने से huawei कंपनी का 123 अरब डालर सालाना कारोबार खतरे पर है पहले अमेरिका और ब्रिटेन ने भी huawei पर लगाम कस ली है अमेरिका ने बाकी देशों को भी huawei पर प्रतिबंध लगाने को कहा है जॉनसन जी 7 शिखर सम्मेलन में अगले महीने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलने वाले हैं इन दोनों के बीच huawei पर प्रतिबंध को लेकर भी बातचीत हो सकती है अमेरिकी सरकार की सोच है कि 5G नेटवर्क के मामले में केवल एक ही विजेता होना चाहिए

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ