Coronavirus संक्रमित maa का दूध बना रामबाण इलाज

Coronavirus संक्रमित maa का दूध बना रामबाण इलाज

Coronavirus: संक्रमित मां का दूध नवजात को इंफेक्शन से बचाएगा

कोरोना वायरस को लेकर दुनिया भर के वैज्ञानिक शोध में लगे हुए हैं जिसकी वजह से कोई ना कोई नई शोध या रिपोर्ट सामने आ रही है ऐसी ही एक रिसर्च सामने आई है यह रिसर्च नवजात शिशु को लेकर मां के दूध के लिए है

शोध के मुताबिक कोरोनावायरस से संक्रमित मां के दूध में ऐसी एंटीबॉडीज मौजूद हो सकती है जो कोरोना वायरस से बचाने में बच्चों को सहायक हो सकता है वैज्ञानिकों का ध्यान इस बिंदु की ओर किया कि दूध में एंटीबॉडीज का कुछ अनुपात खून से आता है जिससे यह संभावना पैदा होती है कि दूध
में कोरोना वायरस का मुकाबला करने वाली एंटीबॉडीज मौजूद हो 

शोध के लिए कोरोना से संक्रमित माओं के 15 सैंपल लिए गए थे जबकि 10 कोरोना नेगेटिव मां के दूध के सैंपल लिए गए इसके बाद रिसर्च के परिणाम से यह पता चला कि वायरस का शिकार होने वाली अधिकतर माओं की दूध में सार्स कोविड दोग वायरस केे खिलाफ मजबूत रिएक्शन मौजूद है

अमेरिका के न्यूयॉर्क में एक icahn school of medicine  मैं शोध करने वाली डॉक्टर ने कहा कि दूध पिलाने वाली मां जो corona की शिकार है उन्हें अपनी बीमारी के दौरान या उसके बाद भी बच्चों को दूध पिलाना चाहिए उन्होंने कहा कि शोध से साबित होता हैै कि वीयरस दूध के जरिए ट्रांसफर नहीं होता जबकिं एंटीबॉडीज वहां मौजूद है जो बच्चों को इंफेक्शन से बचा सकती

रेबिका पावेल ने अपनी शोध से पहले फॉर्ब्स को बताया कि यदि हिफाजत एंटीबॉडी का स्तर ज्यादा है तो उन्हें अलग करके कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ इलाज के लिए उपयोग में लाया जाा सकता हैं साथ ही उन्होंने एक सुझाव भी दिया कि इंटरनेट से मां का दूध खरीदने से बचा जाए क्योंकि इससेे दूसरी बीमारी हो सकती है

फॉर्ब्स की रिपोर्ट के अनुसार इलाज कि यह किस्म खून में प्लाज्मा की एंटीबॉडीज में किए जाने वाले हालया शोध जैसी हैं प्लाज्मा के इलाज से कोरोना वायरस से ठीक होने वाले व्यक्ति से खून लिया जाता है और उसमें सेेेेेेेे अलग किए गए प्लाज्मा को कोरोनावायरस के बीमार को दिया जाता है

रेबिका पावेल और उनकी टीम अब यह पता लगा रही है कि मां के दूध में मौजूद एंटीबॉडीज में वायरस से लड़ने के लिए कितनी क्षमता होती हैं और क्या इसमें वायरस से लड़ने के लिए रिदान ढूंढे जा सकते हैं

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ