Coronavirus चीन से आया एक और खतरनाक कोरोना असम के 306 गांव प्रभावित

Coronavirus चीन से आया एक और खतरनाक कोरोना असम के 306 गांव प्रभावित

Coronavirus चीन से आया एक और खतरनाक कोरोना असम के 306 गांव प्रभावित

1. कोरोना संकट के बीच एक और वायरस की दस्तक
2. चीन से ही आया है यह खतरनाक वायरस
3. अफ्रीकन स्वाइन फ्लू के मिले केस
4. असम के 306 गांव प्रभावित
Coronavirus चीन से आया एक और खतरनाक कोरोना असम के 306 गांव प्रभावित

कोरोना संकट के बीच भारत में एक और नए वायरस ने दस्तक दे दी है कोरोना वायरस की तरह ही यह भी चीन से ही आया है जिसका संक्रमण सूअरों में फैलता है इस खतरनाक वायरस का नाम अफ्रीकन स्वाइन फ्लू है असम में सूअरों की मौत के बाद सरकार ने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग शुरू करवा दी है साथ ही पड़ोसी राज्यों को भी सतर्क किया गया है सरकार संक्रमित सूअरों की जांच में जुट गई है

भारत में पहला मामला

बताया जा रहा है कि इस खतरनाक वायरस को काबू में नहीं किया गया तो सूअरों की बड़ी आबादी खतरे में पड़ सकती है असम राज्य में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू फैलने की पुष्टि हुई है अब तक 2500 सूअरों की मौत हो चुकी है देश में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू का यह पहला मामला है केंद्र सरकार से मंजूरी मिलने के बाद राज्य सरकार अब रोकथाम के लिए हर संभव जुट गई है

असम के पशुपालन व पशु चिकित्सा मंत्री अतुल बोरा ने कहा कि- भोपाल के दी नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनिमल डिसीसिस ने अफ्रीकी स्वाइन फ्लू की पुष्टि की है

30 लाख सूअरों पर खतरा

सरकार ने बताया कि गणना के मुताबिक 2019 में राज्य में स्वरोंसूअरोंकी आबादी 21 लाख थी जो अब बढ़कर 30 लाख हो चुकी है अतुल बोरा नहीं कहा हमने विशेषज्ञों से बात की है क्या इन सूअरों का सफाया किए बिना इन को बचाया जा सकता है क्योंकि इस बीमारी की चपेट में आने की बात सूअरों की मृत्यु दर लगभग 100 फ़ीसदी है हालांकि यह बीमारी अभी बड़ी संख्या में नहीं फैली है इसे रोकने के लिए कड़े कदम उठाने होंगे ताकि सूअरों की आबादी में कोई खतरा ना रहें!

306 गांव में फैली बीमारी

असम के 306 गांव में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू की दस्तक दे दी है जिसके बाद सरकार ने संक्रमित क्षेत्र के 1 किलोमीटर दायरे में सेंपल लेकर उसकी जांच करने का निर्णय लिया है

चीन से आया अफ्रीकी स्वाइन फ्लू वायरस

जानकारी के मुताबिक यह वायरस सूअरों के मांस जलाईबा
और टीशू से फैलता है अन्य राज्यों को इसके लिए सतर्क किया गया है असम सरकार के मुताबिक यह वायरस भी 2019 अप्रैल में अरुणाचल प्रदेश से सटे चीन के शी जागं प्रांत के एक गांव से ही फैला था और पिछले फरवरी में भारत आया हालांकि उनका कहना है कि इस वायरस का असर इंसानों पर नहीं पड़ता है फिर भी हमें सतर्क रहने की जरूरत है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ