पालघर में साधुओं की हत्या करने वाले में corona मिलने से हड़कंप

पालघर में साधुओं की हत्या करने वाले में corona मिलने से हड़कंप

पालघर के आरोपियों में पाया गया कोरोना.


महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं समेत उनके ड्राइवर की हत्या को लेकर उद्धव ठाकरे सरकार की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है इस घटना को लेकर और महाराष्ट्र सरकार की विफलता को लेकर कई सवाल खड़े किए जा रहे हैं जहां एक तरफ सिर्फ सेना के राज्य में भगवा धारियों पर आक्रमण करके उन की पीट-पीटकर हत्या कर दी जिससे राजनीति तेजी हो गई है और दूसरी तरफ 16 अप्रैल की इस घटना को लेकर उद्धव सरकार से रिपोर्ट तलब की है.

न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की बेंच ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुशांत शेखर की याचिका की सुनवाई के दौरान पालघर मामले में उद्धव सरकार से रिपोर्ट मांगी है वहीं दूसरी तरफ पालकर की घटना में एक नया ट्विस्ट आ गया बता दें कि पुलिस ने पालघर की घटना को लेकर 110 लोगों को गिरफ्तार किया था जिसमें से 9 आरोपी नाबालिक है जिन्हें किशोर सुधार कर भेज दिया गया है इसी के साथ 101 आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया था जहां से कोर्ट ने उन्हें 14 दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया लेकिन जब इन आरोपियों में से एक आरोपी में कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट मिली तो पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया

पुलिस तुरंत हरकत में आ गई और कोरोनावायरस पॉजिटिव बिना देरी किए स्थानीय अस्पताल में भर्ती करा दिया गया इसके साथ ही सभी अन्य आरोपियों को भी क्वॉरेंटाइन किया जा चुका है इतना ही नहीं पुलिस जांच में जुट गई है कि पिछले दिनों किन-किन पुलिसकर्मियों ने इनसे पूछताछ की है ताकि पुलिसकर्मियों को भी क्वॉरेंटाइन किया जा सकें

आपको बता दें पालघर पुलिस ने संतों की हत्या के लिए पांच अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया जिन्हें बीते दिन अदालत में पेश किया जा चुका है यह लोग 13 दिन तक पुलिस रिमांड में रहेंगे और सीआईडी इन सबसे हत्या के मामले में पूछताछ करेगी अब तक 115 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं वहीं महाराष्ट्र सरकार ने कई निकम्मी और गैर जिम्मेदार पुलिस वालों को निलंबित कर दिया है इस मामले में तीन और पुलिस वालों को जिसमें एक असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर और 2 कांस्टेबल है उन्हें भी निलंबित कर दिया गया है और 35 पुलिसकर्मियों को एक साथ तबादला किया जा चुका है इन सबके बीच पालघर के दोषियों को जल्द से जल्द कार्यवाही करने की मांग की जा रही है!

Post a Comment

0 Comments