भारतीय नौसेना के युद्धपोत रवाना मोदी सरकार का एअरलिफ्ट का ऑपरेशन शुरू

भारतीय नौसेना के युद्धपोत रवाना मोदी सरकार का एअरलिफ्ट का ऑपरेशन शुरू

दुनियाभर में फैले कोरोनावायरस के संकट में फंसे भारतीयों को अपने देश में लाने के लिए कवायद तेज कर दी गई है भारत सरकार ने दूसरे देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने का फैसला किया है और इसके लिए नौसेना के युद्धपोत INS जलाश्रय, INS मगर और INS शार्दुल मालदीव और संयुक्त राष्ट्र अमीरात के लिए रवाना हो गए हैं

भारत सरकार ने खाड़ी देशों में फंसे उन भारतीयों को वापस लाने का जिम्मा भारतीय नौसेना को सौंपा है दूसरे देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए भारतीय नौसेना ने अपने कुल 14 युद्ध पोतों की तैनाती की है जिनमें से आई एन एस जलाश्रय i.n.s. मगर i.n.s. को मालदीव भेजा गया वही शार्दुल को दुबई भेजा गया है जहां से लोगों को वापस लाया जाएगा भारत सरकार ने विदेश में फंसे हुए भारतीयों को वापस लाने के लिए कहां था कि 7 मई से इसकी शुरुआत होगी जिसमें हवाई मार्ग का भी सहारा लिया जाएगा

दुबई और अबू धाबी से स्पेशल विमान आएंगे जिसमें भारतीयों को वापस लाया जाएगा इस सिलसिले में भारत सरकार का कहना है कि मालदीव में करीब 2500 से भारतीय मजदूर फंसे हुए हैं जिन्हें वापस लाना है अब इन्हें समुद्री रास्तों के जरिए वापस लाया जाएगा और फिर इन्हें क्वॉरेंटाइन रहना होगा और अन्य सभी नियमों का भी इन्हें पालन करना होगा

Post a Comment

0 Comments