कानून का दुरुपयोग कर अभिव्यक्ति का दमन बर्दाश्त नहीं होगा, Bjp अध्यक्ष Jp Nadda

कानून का दुरुपयोग कर अभिव्यक्ति का दमन बर्दाश्त नहीं होगा, Bjp अध्यक्ष Jp Nadda

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तीखे स्वर से गैर बीजेपी शासित राज्यों में BJP विरोधी पार्टियों द्वारा बीजेपी कार्यकर्ताओं नेताओं तथा पदाधिकारियों के साथ-साथ स्वतंत्र आवाजों को जिस तरह दबाया जा रहा है उसकी आलोचना की हैं

जेपी नड्डा बोले कि कुछ दिनों से विपक्षी पार्टियां राज्यों में सत्ता की मशीनरी का दुरुपयोग कर ना सिर्फ भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित कर रही है बल्कि उन्हें सोशल मीडिया पर भी दबाया जा रहा है अभिव्यक्ति की आजादी छीनी जा रही है

जेपी नड्डा ने विपक्षी पार्टियों की सरकारों को गिरते हुए ट्वीट किया- सत्ता की मशीनरी का दुरुपयोग करके और आलोचकों की आवाजों को दबाना आशोभनीय हैं, अनुपयुक्त है विपक्षी पार्टियों जहां विफल हो रही है वहां उन पर उठ रहे सवाल का जवाब देना चाहिए मैं भाजपा के कार्यकर्ताओं शुभचिंतकों और समर्थकों को भरोसा दिलाता हूं कि हम आपके साथ खड़े हैं जिन्हें अपनी अनैतिक राजनीतिक खुलासे का डर है वह डरे हुए हैं इसीलिए ऐसे रास्ते अपना रहे हैं

जेपी नड्डा ने कोविड-19 से लड़ते हुए विफल रही गैर बीजेपी राज्य में व्यवस्थाओं को लेकर उठ रहे सवालों को गलत तरीके से दवाई जाने पर आलोचना कीं और स्पष्ट समझाया कि भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में इस तरह की हरकतो के लिए कोई जगह नहीं है

पूरा मामला क्या है
आपको बतादें कि हाल ही में कई वाक्य सामने आए जिसमें गैर बीजेपी शासित राज्यों में लोकतंत्र की आवाज को दबाया गया

सिख दंगों पर राजीव गांधी पर सवाल खड़ी करने के लिए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा पर छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्य कांग्रेस शासित राज्यों पर एफ आई आर दर्ज की गई है

पालघर मॉब लिंचिंग पर सवाल खड़ा करने के लिए रिपब्लिक टीवी के पत्रकार अरनव गोस्वामी जी से मुंबई पुलिस ने 12 घंटे तक पूछताछ की उनकी गाड़ी पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हमले किए थे

ज़ी न्यूज़ के वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी को तो यूएई और पाकिस्तान से धमकियां तक आई, केरल में उनके खिलाफ f.i.r. तक दर्ज की गई क्योंकि उन्होंने जिहाद पर रिपोर्टिंग की थी

एक सटायर वाले न्यूज़ के लिए द स्किन डॉक्टर के खिलाफ हैदराबाद पुलिस ने मामला दर्ज किया

 शेफाली वैद्य को भी सोशल मीडिया पर आवाज उठाने के लिए धमकियां दी गई

पोकर शाह टि्वटर हैंडल के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराई गई पश्चिम बंगाल में तो सरकार की आलोचना करने वालों को प्रताड़ित करना आम बात हो गई है इस प्रकार से पिछले कई दिनों में इस तरह के मामले सामने आए जिसमें गैर वामपंथी की आवाजों को दबाने के लिए सत्ता का दुरुपयोग किया गया

 इन सभी मामलों को लेकर जेपी नड्डा ने कहा कि सार्वजनिक जीवन में आलोचनाओं और चर्चा के लिए सरकारों को तैयार रहना चाहिए यह लोकतंत्र का अभिन्न अंग है वही जेपी नड्डा ने ट्वीट करके आश्वासन दिया कि वह उन सभी लोगों की अभिव्यक्ति की आजादी के लिए खड़े हुए हैं जिन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है उन्होंने भरोसा दिलाया कि इस लोकतांत्रिक सिस्टम में तानाशाही रवैया का पार्टी कड़ा प्रतिकार करेगी!

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ