Germany ने corona से हुए नुकसान के लिए, china को भारी-भरकम बिल भेजा

Germany ने corona से हुए नुकसान के लिए, china को भारी-भरकम बिल भेजा

Germany ने चीन को भेजा 149 अरब यूरो का बिल

1. अब जर्मनी ने चीन को घेरा
2. कोरोना से हुआ अरबों पाउंड का नुकसान
3. जर्मनी के अखबार में छाप दी नुकसान की लिस्ट
4. नुकसान के लिए चीन को ठहराया जिम्मेदार

चीन के वुहान प्रांत में दुनियाभर में फैले कोरोनावायरस के संक्रमण ने अब तक 1,65,000 से अधिक लोगों की जान ले ली है जबकि 24,00000 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं
दुनिया के कई देश कोरोनावायरस संक्रमण के लिए चीन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं इसमें अब जर्मनी का भी नाम शामिल हो गया है

बीजिंग पर बर्लिन का 130 अरब पाउंड उधार बाकी

जर्मनी की एक प्रतिष्ठित अखबार ने तो कोरोना वायरस के कारण देश में हुए नुकसान का पूरा ब्योरा छाप दिया और इस नुकसान के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया जर्मनी के सबसे बड़े अखबार बिल्ड के संप्रदायिक पेज पर इनवॉइस छापा गया है

चीन को कितनी उधारी चुकानी है शीर्षक नाम से छपे इस खबर में कहा गया है कि बीजिंग पर बर्लिन का 130 अरब पाउंड यानी कि 149 अरब यूरो की उधारी बाकी है अखबार में बकायदा चीन को 130 अरब पाउंड यानी 12 लाख करोड़ रुपए का बिल भेजा है

किस सेक्टर में कितना नुकसान

बिल्ड अखबार ने अपने इस खबर में जर्मनी के हर क्षेत्र के नुकसान का ब्योरा छापा इसमें पर्यटन को 27 अरब यूरो फिल्म उद्योग को 27.2 अरब यूरो और भी बहुत सारे नुकसान को जर्मनी के प्रतिष्ठित अखबार ने छापा

चीन ने दुनिया को अंधेरे में रखा

चीन ने जर्मनी के इस कदम पर कड़ा ऐतराज जताया है उसने इसे राष्ट्रवाद को बढ़ावा देने और विदेशियों से नफरत दिखाने वाला कदम बताया है कोविड-19 एक बहुत बड़ा खतरनाक वायरस है लेकिन चीन ने दुनिया को अंधेरे में रखा

दूसरे देश भी चीन को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं

इससे पहले फ्रांस, यूके और अमेरिका ने कोरोना वायरस के लिए चीन को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया है दरअसल हाल के दिनों में कोरोना वायरस को लेकर जिस तरह खुलासे सामने आए हैं उससे यह शक पुख्ता होता जाता है कि चीन कोरोना वायरस के संक्रमण की भ्रामकता को छुपाने की कोशिश की

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था भुगतने होंगे अंजाम

इससे पहले शनिवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि अगर चीन ने इसे जानबूझकर किया है तो उसे इसके अंजाम भुगतने पड़ेंगे, ट्रंप ने कहां इसे चीन में ही रोका जा सकता था लेकिन ऐसा नहीं किया गया जिसकी वजह से पूरी दुनिया भुगत रही है

Post a Comment

0 Comments