Coronavirus से ठीक हुए लोग दुनिया के लिए खतरा, WHO ने चेताया

Coronavirus से ठीक हुए लोग दुनिया के लिए खतरा, WHO ने चेताया

Coronavirus महामारी से अब तक दुनियाभर में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है वहीं कई लाख लोग इससे संक्रमित हैं दुनिया की अर्थव्यवस्था नीचे गिरती जा रही है ऐसे में कई देशों की सरकार इस बात पर विचार कर रही है कि lockdown को खोल दिया जाए और लोगों को काम करने की अनुमति दे दी जाए खासतौर पर वे लोग जो लोग corona संक्रमित थे पहली बार में उन्हें ठीक कर दिया गया लेकिन इस फैसले पर विश्व स्वास्थ संगठन यानी W.H.O. ने कड़ी आपत्ति जताई है और कहा है कि इलाज किए जा चुके लोग दुनिया के लिए खतरा है

W.H.O. ने क्या कहा?

WHO ने कहा कि दुनिया भर की सरकारों ने कुछ लोगों को काम पर जाने की अनुमति दे रही है जो coronavirus से ठीक हो चुके हैं लेकिन यह कोशिश दुनिया में कोरोना के खतरे को बढ़ा देगी, दुनियाभर में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जिनमें corona वायरस के इलाज के बावजूद कोई शख्स दोबारा पॉजिटिव पाया गया है इसलिए इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि यह लोग दोबारा संक्रमण के शिकार नहीं होंगे यदि ऐसे लोग सामान्य जिंदगी जीने लगे और अपने स्वास्थ्य व immune को लेकर लोग निश्चिंत हो गए अपना ध्यान रखना बंद कर दिया तो यह संक्रमण दोबारा आपको शिकार बना सकता है और वायरस फैला सकता है

WHO की चेतावनी वाकई गौर करने लायक है क्योंकि दुनिया भर में कई ऐसे मामले देखे गए जिनमें कोरोना संक्रमण द्वारा आया वैज्ञानिकों की मानें तो कम से कम 14 फ़ीसदी ऐसे मामले हैं जिनमें कोरोनावायरस दोबारा देखने को मिले हैं

क्या वायरस शरीर के भीतर रहता है?

कुछ बारिश ऐसे होते हैं जो इंसानी शरीर के अंदर 3 महीने या फिर इससे अधिक समय तक रह सकते हैं वायरस संक्रमित व्यक्ति का इलाज के बाद किया गया टेस्ट नेगेटिव आने पर माना जाता है कि उस व्यक्ति का शरीर उस वायरस से लड़ने के लिए सक्षम हो गया है और इस कारण वायरस उस व्यक्ति के शरीर को परेशान दोबारा नहीं करेगा.

 लेकिन कई बार शरीर के ऐसे टिशू में कुछ वायरस छुपे रहते हैं जहां शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का असर कम पड़ता है और जैसे ही उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है वायरस उन पर अटैक कर देता है

वैज्ञानिकों के मुताबिक कोविड-19 एक नया वारिस है और फिलहाल वह इसके व्यवहार को समझने में लगे हुए हैं की coronavirus फिर से इतनी जल्दी कैसे लौट आता है कोरोना वायरस को समझने के लिए और शोध की जरूरत है ऐसे में कोविड-19 पर स्पष्ट जानकारी या इलाज सामने नहीं आता है तब तक कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति जो इलाज के बाद ठीक होकर आ गया है वह कुछ वक्त तक बाहरी दुनिया से दूरी बनाकर रखें और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएं क्योंकि इस वायरस का संक्रमण कितना तेजी से फैलता है यह किसी से छिपा नहीं है

 ऐसे में विश्व स्वास्थ संगठन की चेतावनी कोई भी देश किसी प्रकार की गलती करने से बचें यह बीमारी दुनिया का पीछा इतना जल्दी छोड़ने वाली नहीं है अगर जल्दी बाजी करेंगे तो हो सकता है कि इस बीमारी का इससे भी ज्यादा भयंकर रूप देखने को मिल सकता है हम पहले भी लगभग 2 lakh से ज्यादा लोगों की जान गवा चुके हैं और 30 lakh लोगों से अधिक संक्रमित हैं

Post a Comment

0 Comments