Corona काल में पाकिस्तान का भारत के खिलाफ प्रोपेगंडा.

Corona काल में पाकिस्तान का भारत के खिलाफ प्रोपेगंडा.

कोरोना के खिलाफ सरकार एड़ी चोटी का जोर लगाकर लोगों को जागरूक कर रही है लेकिन देश का कथित बुद्धिजीवी वर्ग ऐसे भी विपदा के वक्त भी अपने एजेंडे को लागू करने से पीछे नहीं हट रहे आश्चर्य है कि कोरोना काल में जब दुनिया भारत की ओर मदद की तरह देख रही है 50 से अधिक देशों की भारत मदद कर रहा है तो वहीं कुछ बुद्धिजीवी भारत की छवि को धूमिल करने और अपना चेहरा चमका कर प्रोपेगंडा की दुकानदारी बढ़ाने की फिराक में लगे हैं ऐसे में यह नहीं सोच रहे कि यह देश के लिए कितना नुकसानदायक है

ट्रम तो भारत की तारीफ करते थक नहीं रहे, ब्राजील भारत को रामायण का हवाला दे रहा है, इजराइल दोस्ती की कसमें खा रहा है ऐसी वक्त में अरुंधती राय अमेरिकी मीडिया में जाकर भारत के खिलाफ अनर्गल बयानबाजी कर रही है लेकिन अरुंधति राय ने देश में फैले कोरोना वायरस को लेकर ऐसा बयान दिया जिसकी वजह से वह चर्चा में आई

एक विदेशी न्यूज़ एजेंसी को दिए गए इंटरव्यू में अरुंधती राय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना तानाशाह हिटलर से की  उन्होंने कहा मोदी सरकार देश में फैले कोरोनावायरस का इस्तेमाल हिंदू मुसलमान के बीच तनाव बढ़ाने का काम कर रही है और कोरोना को मुसलमानों के खिलाफ एक टूल की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है अरुंधति राय का इस बयान को मानो भारत के खिलाफ करने के लिए पाकिस्तान से लेकर इस्लामिक संगठन ताक में बैठे हो

इस बयान के बाद पाकिस्तान और OIC ने ऐसे बयान दिए जैसे वह सूखे कांटा हुए जा रहे हो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ organisation of islamic cooperation भारत के खिलाफ जहर उगलना शुरू कर चुका है OIC ने इमरान के सुर में सुर मिला कर  भारत के corona वायरस इलाज में मुसलमानों के साथ भेदभाव का आरोप लगा दिया

पीएम इमरान ने एक के बाद एक ट्वीट किया और लिखा भारत के मुसलमानों के साथ वही हो रहा है जो जर्मनी में नाजियों ने यहूदियों के साथ किया था अगर ऐसा रत्ती भर भी होता तो भारत इस्लामिक देशों को hydroxychloroquine दवाई क्यों देता भारत मलेशिया तुर्की यूएई जैसे देशों की मदद करने से पहले यह सोच भी नहीं रहा है कि इनमें से कुछ ऐसे भी देश है जो india खिलाफ पाकिस्तान का साथ देते हैं यहां तक कि खुद पाकिस्तान भारत से दवाई की उम्मीद लगाए बैठा हैं 

दूसरी तरफ वही पाकिस्तान और इस्लामिक संगठन भारत के खिलाफ प्रोपेगंडा चला रहे हैं ऐसे में भारत में मौजूद प्रोपेगेंडा गैंग को यह सोचना होगा कि वह अपनी दुकान चलाने के फिराक में भारत विरोधियों का सहारा कब तक बनते रहेंगे और कब तक देश की छवि को नुकसान पहुंचाते रहेंगे

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ