Corona पर खुफिया रिपोर्ट से खलबली, ब्रिटेन की कोबरा टीम ने किया बड़ा खुलासा

Corona पर खुफिया रिपोर्ट से खलबली, ब्रिटेन की कोबरा टीम ने किया बड़ा खुलासा

चीन की खुफिया कारनामे की खुलने लगी पोल ब्रिटेन की कोबरा टीम ने  किया खुलासा.

चीन की खुफिया कारनामे की खुलने लगी पोल ब्रिटेन की कोबरा टीम ने  किया खुलासा.

चीन से बाहर आई खुफिया रिपोर्ट से खलबली, खुफिया रिपोर्ट ने खोला चीन का corona कारनामा, corona वायरस किससे फैला, कौन से जानवर से फैला, लैब में बना या प्राकृतिक रूप से फैला ऐसे घातक वायरस चाइना में ही क्यों फैले. शुरुआत बुहान से हुई फिर पूरे चाइना में क्यों नहीं फैला जबकि हजारों मील दूर यूरोप और अमेरिका में तबाही मचा रहा है क्यों बुहान के अलावा चाइना में लॉक डाउन नहीं हुआ कई सवाल हैं जिनका जवाब मिलना बाकी है

वैज्ञानिकों ने तो इतना क्लियर कर दिया कि यह लैब में नहीं बना यानी प्राकृतिक तौर से बना है लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कह दिया दो जानवरों के वायरसों आपस से मिलने पर बना हो सकता है मतलब corona वायरस अभी तक एक पहेली बना हुआ है चाइना पर लगातार सवाल उठ रहे हैं और डब्ल्यूएचओ सवालों के घेरे पर है उस पर आरोप है कि वह चाइना के इशारों की कठपुतली बन गया है

आपके मन में भी सवाल उठ रहे होंगे कि हो ना हो यह चाइना की साजिश ही है क्योंकि चारों ओर से फायदा तो उसे ही हो रहा है लिहाजा दुनिया के कई देशों ने तेजी से इसके चाइना के राज जानने के लिए अपना नेटवर्क स्थापित करके आए इन तमाम सवाल के जवाब ढूंढने में लगे हैं इसमें पहली सफलता भी हाथ लगी है ब्रिटिश एजेंसी ने दावा किया है कि बुहान के लैब से यह लीक हुआ है

लैब से इंसानों में कैसे फैला हुआ है वायरस.

Coronavirus चाइना की एनिमल मार्केट से फैला इस थ्योरी पर अभी तक कई लोग भरोसा नहीं कर रहे है वायरस का प्रसार होने की वजह का पता लगाने के लिए सरकारें जासूसी भी करवा रही है ब्रिटेन सरकार को खुफिया सूचना मिली है कि वायरस का संक्रमण सबसे पहले चीनी लैब में जानवरों को हुआ फिर बाद में इंसानों में फैला जो घातक रूप ले चुका है

ब्रिटेन के सरकारी सूत्रों का कहना है कि भले ही अब तक वैज्ञानिक सुझाव यही रहा हो कि वायरस चीन के एनिमल मार्केट से इंसानों में फैला, लेकिन चीनी लैब से हुए लिक फैक्ट को दरकिनार नहीं किया जा सकता.
चीन की खुफिया कारनामे की खुलने लगी पोल ब्रिटेन की कोबरा टीम ने  किया खुलासा.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक- ब्रिटेन में गठित आपात कमेटी कोबरा की एक सदस्य ने कहा कि उनके पास खुफिया सूचना है जिनके मुताबिक इस बात को लेकर कोई दोराय नहीं है कि वायरस जानवरों से ही फैला है लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता की वायरस बुहान के लैब से लीक होकर ही सबसे पहले इंसानों में फैला था

कोबरा को सिक्योरिटी संबंधों में डिटेल जानकारी दी है यह कोई संयोग नहीं है कि बुहान में लैब भी मौजूद है वह चाइना की सबसे एडवांस लैब है यह लैब जानवरों के बाजार से महज 10 मील की दूरी पर है क्योंकि साल 2018 में चाइना की अखबार पीपल्स डेली ने कहा  यह घातक इबोला वायरस जैसे microxygenim पर प्रयोग करने पर सक्षम है और यहां डेढ़ हजार वायरस स्टोर किए गए हैं जिन पर रिसर्च की जा रही है

आपको बता दें कि चाइना कोरोनावायरस लेकर दुनिया में अब तक पूरी जानकारी मुहैया नहीं करा रहा है बल्कि हर जानकारी को छुपाने की फिराक में है यहां तक कि वह अपने यहां मरने वालों का सही आंकड़ा भी जारी नहीं किया चाइना ने केवल 33 लोगों के मारे जाने की बात कही है जबकि कहां जाता है कि वहां मरने वालों की 47080 कलश बांटे गए
यानी मरने वालों की संख्या 47000 से अधिक हो सकती है

लैब से बाहर कैसे निकला वायरस?

पहले चाइना की इस इंस्टिट्यूट से खबर आई थी कि वहां कर्मचारियों की खून में इसका इंफेक्शन हुआ फिर इसमें स्थानीय आबादी को संक्रमित किया वही बुहान के लैब बाजार से 3 मील दूर है माना जाता है कि यहां भी जानवरों जैसे चमगादड़ पर प्रयोग किए गए ताकि corona वायरस के ट्रांसमिशन का पता चल सके

2004 में चीनी लैब से लीक के कारण घातक सार्स वायरस फैला था जिससे वहां एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 9 अन्य लोग संक्रमित हो गए थे चीनी सरकार ने तब कहा था कि यह लापरवाही के कारण ऐसा हुआ था और पांच वरिष्ठ अधिकारियों को दंडित किया गया

चीन की सरकारी लैब से कैसे फैला coronavirus.

 कुछ वक्त पहले चीन के सरकारी साउथ चाइना यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी ने कहा था कि बुहान में स्थित लैब में रूप फैलाने वाले वायरस को जन्म दिया गया हो उन्होंने यह दावा किया कि हो सकता है वहां ऐसे जानवरों को रखा गया हो जिनसे बीमारी फैल सकती है जिसमें 600 चमगादड़ भी शामिल थे इनके रिसर्च पेपर में यह भी कहा गया है कि corona वायरस के लिए जिम्मेदार चमगादड़ ने एक बार सिर्फ रिसर्चरो पर हमला कर दिया और चमगादड़ का खून उनके स्किन पर मिल गया.

रिपोर्ट में बताया गया कि यहां मौजूद देसी चमगादड़ बुहान के सीफूड मार्केट से करीब 600 मील दूर पाए जाते हैं रिपोर्ट के अनुसार एक रिसर्च ने बताया कि चमगादड़ का खून स्किन में आ जाने के कारण उसने खुद को दो हफ्तों तक अलग रखा था 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ