इंसान के शरीर को कैसे बदलता है कोरोनावायरस

इंसान के शरीर को कैसे बदलता है कोरोनावायरस

coronavirus ह्यूमन बॉडी में कैसे प्रभाव डालता है


किसी संक्रमण व्यक्ति के छीखनें या खॉसनें से निकले कणों में मौजूद वायरस सांस के द्वारा हमारे जिस्म में पहुंच जाते हैं संक्रमण ऐसे ही फैलता है या फिर हम ऐसी सताए को छुए जहां वायरस है फिर हम अनजाने में अपने हाथ से आंख नाक या मुंह को छू लें

 यह वायरस जब तक हमारी कोशिकाओं में शामिल नहीं होता तब तक नहीं वायरस पैदा नहीं करता यह हमारे नाक वागले की सेल्स से जुड़ जाता है एक बार यह वहां दाखिल होने के बाद यह अपने सतह के प्रोटीन के जरिए हमारी कोशिकाओं की झिल्ली को भेदता हुआ आगे बढ़ता है

कोशिका के अंदर दाखिल होने के बाद यह अपने जैसे कई वायरस पैदा करने लगता है थोड़े ही वक्त में यह अपने जैसे दस हजार से लेकर लाख तक वायरस पैदा कर लेता है तैयार होने के बाद यह वायरस उन कोशिकाओं से बाहर आने लगते हैं जहां यह बने थे उन्हें नष्ट करने के बाद यह आसपास की कोशिकाओं को संक्रमित करना शुरू कर देते हैं वहां से वायरस श्वसन नली की ओर बढ़ता है जो फेफड़ों की ओर जाती है इससे नली की सतह सूज जाती है

लेकिन यह वायरस नली से होते हुए जब फेफड़ों तक पहुंच जाए तो हालात बहुत गंभीर हो सकते हैं यह वहां सूजन पैदा कर सकता है जिसे निमोनिया कहा जाता है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ