Delhi violence पर बांग्लादेश ने क्या कहा?

ads.txt

Delhi violence पर बांग्लादेश ने क्या कहा?

Delhi violence पर पाकिस्तान और बांग्लादेश की प्रतिक्रिया

Delhi violence पर पाकिस्तान और बांग्लादेश की प्रतिक्रिया

Delhi में हुई सांप्रदायिक हिंसा पर अंतरराष्ट्रीय प्रतिक्रिया लगातार आ रही है तुर्की, पाकिस्तान और अमेरिका सहित कई अंतरराष्ट्रीय संगठन ने इस पर प्रतिक्रिया दी है इसके बाद बांग्लादेश की ओर से भी इस पर टिप्पणी की गई है बांग्लादेश के गृहमंत्री ने कहा है कि मुल्क में सांप्रदायिक हिंसा के लिए कोई जगह नहीं होनी शनिवार को बांग्लादेश के पश्चिमी जिले दर्शाना पुलिस स्टेशन में उद्घाटन के मौके पर गृह मंत्री ने कहा

भारत की राजधानी दिल्ली में हुए सांप्रदायिक दंगे का असर बांग्लादेश में बिल्कुल नहीं होगा. कानून व्यवस्था बनाने वाली एजेंसियां पूरी तरह मुस्तैद है दूसरी तरफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा राज्य प्रायोजित बताया है इमरान खान ने कहा मुसलमानों के खिलाफ हुई हिंसा भारत में 20 करोड़ मुसलमानों के बीच अतिवाद को बढ़ावा मिलेगा

इमरान खान ने ट्वीट करके कहा कि भारत में मुस्लिम के बीच अतिवाद उसी तरह बढ़ेगा जिस तरह कश्मीर में युवाओं के बीच है इमरान खान ने अपने ट्वीट में कहा कि मेरी आशंका यह है कि विश्व समुदाय ने जो भारत में चीजें चल रही है उन में हस्तक्षेप नहीं किया तो नतीजे ना केवल इसके इलाके के लिए विनाशकारी होंगे बल्कि पूरी दुनिया के लिए भी होंगे इस हफ्ते दूसरा यह मौका है जब दिल्ली में हुई हिंसा पर कोई बयान दिया है

 दिल्ली में हुई इस हिंसा में अब तक 42 लोगों की जान जा चुकी है बांग्लादेश में तो दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर प्रदर्शन भी हो रहे हैं ढाका में इस प्रदर्शन के दौरान इस्लामिक पार्टियों ने भारतीय प्रधानमंत्री मोदी जी को शेख मुजीबुर रहमान की सॉरी जयंती पर भेजे गए आमंत्रण को रद्द करने की मांग की है

ढाका ट्रिब्यूट के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने धमकी दी है कि अगर उनकी सरकार ने भारत के प्रधानमंत्री भेजा गया आमंत्रण पत्र वापस नहीं लिया गया तो वह ढाका एयरपोर्ट पर विरोध करेंगे हिफाजत ए इस्लाम के उपाध्यक्ष नूर हुसैन कासमी ने कहा है कि बैठक के बाद अगले विरोध प्रदर्शन की घोषणा की जाएगी हालांकि बांग्लादेश की सत्ताधारी पार्टी ने कहा कि दिल्ली में हुई हिंसा भारत का आंतरिक मामला है

Post a Comment

0 Comments