दुनिया में coronavirus महामारी फैलने की भविष्यवाणी 40 साल पहले ही कर दी गई थी

दुनिया में coronavirus महामारी फैलने की भविष्यवाणी 40 साल पहले ही कर दी गई थी

दुनिया में coronavirus महामारी फैलने की भविष्यवाणी 40 साल पहले ही कर दी गई थी 

दुनिया में coronavirus महामारी फैलने की भविष्यवाणी 40 साल पहले ही कर दी गई थी

Corona virus ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है W.H.O. ने इसे महामारी घोषित कर दिया है चीन में पैदा हुआ यह वायरस अब भारत में भी अपने पैर पसार लिया है
लेकिन क्या आप जानते हैं कि coronavirus की भविष्यवाणी आज से 40 साल पहले ही कर दी गई थी
हम बात कर रहे हैं Dean koontz द्वारा 1981 में लिखी किताब the eyes of darkness की.

इस किताब में लेखक ने wuhan-400 नाम के एक वायरस की बात की थी किताब में चीन के wuhan शहर के बाहर एक RDNA लैब की बात की थी यह कहा गया था कि यह वायरस इसी लैब में बनाया गया था, wuhan-400 का यह जैविक हथियार 400 लोगों के माइक्रो gainijzm मिलकर बनाया गया था 
हालांकि यह thriller फिक्शन नोवल है लेकिन इस नोबेल में लिखी बातों को coronavirus से जोड़ा जा रहा है आपको जानकर हैरानी होगी कि coronavirus की भविष्यवाणी करने वाली किताब यह इकलौती नहीं है

12 साल पहले 2008 में भी लेखिका sylvia Browne की किताब 'एंड आफ डेज' फ्रिक्शन एंड अबाउट द एंड ऑफ वर्ल्ड में ऐसे ही एक वायरस के बारे में बात की गई है इसमें coronavirus जैसे ही एक वायरस की उत्पत्ति को लेकर दावा किया गया था इस किताब का एक अंश सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रहा है जिसमें लिखा है- साल 2020 के आस पास एक गंभीर निमोनिया जैसी बीमारी दुनिया भर में फैल जाएगी जो फेफड़ों और ब्रॉकनियल नालियों पर सीधा हमला करेगी. हालांकि इसमें यह बात कही गई है जितनी जल्दी है बीमारी आएगी उतनी तेजी से अचानक से यह बीमारी गायब भी हो जाएगी.

लेकिन इस किताब में एक और चौंकाने वाली बात कही गई कि यह बीमारी 10 साल बाद वापस लौटेगी और फिर हमेशा के लिए गायब हो जाएगी

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ