दुनिया में कच्चा तेल सस्ता हो रहा है और भारत में पेट्रोल डीजल महंगा आखिर क्यों?

दुनिया में कच्चा तेल सस्ता हो रहा है और भारत में पेट्रोल डीजल महंगा आखिर क्यों?

Coronavirus की वजह से लोगों के साथ देश की इकॉनमी में भी बुरा असर पड़ रहा है भारत में फिल्मों से लेकर क्रिकेट तक सब चपेट में है जाहिर है आम चीजें भी इससे बच नहीं सकती इन सबके बीच भारत में पेट्रोल डीजल ₹3 प्रति लीटर के हिसाब से एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी गई है दुनिया में तेल को लेकर जंग छिड़ी है कच्चे तेल के दाम गिर रहे हैं लेकिन अब एक्साइज ड्यूटी बढ़ने से भारत के ग्राहकों को ज्यादा फायदा नहीं मिल पाएगा

विपक्ष इसे लेकर सवाल उठा रहा है की कच्चे तेल के दाम गिरने के बावजूद भारत में पेट्रोल डीजल के दाम क्यों कम नहीं हो रहे हैं पिछले दिनों कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था की इंटरनेशनल कच्चे तेल के दाम में 35 फ़ीसदी की कमी आई है और ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को तेल का दाम ₹60 से कम करना चाहिए उन्होंने कहा था कि इससे सुस्त अर्थव्यवस्था को गति देने में मदद मिलेगी

राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश की राजनीतिक स्थिति को देखते हुए एक ट्वीट किया- प्रधानमंत्री जी जब आप एक निर्वाचित सरकार को अस्थिर करने में व्यस्त थे तो आप वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की 35 फ़ीसदी गिरावट को नहीं देख सके क्या आप पेट्रोल की कीमत ₹60 के नीचे लाकर भारतीय नागरिकों को फायदा देंगे.

पेट्रोल की कीमतें कितनी है-
13 मार्च को
दिल्ली में ₹70 प्रति लीटर कोलकाता में 72.20 प्रति लीटर मुंबई में 75.70 रुपए प्रति लीटर चेन्नई में 72.21 रुपए थी 14 मार्च को इसमें मामूली गिरावट आई

 इसके अलावा 13 मार्च को डीजल की कीमतें-
दिल्ली में 62.74 रुपए प्रति लीटर, कोलकाता में 65.07 प्रति लीटर, मुंबई में 65.68 रुपए प्रति लीटर, चेन्नई में 66.68 रुपए प्रति लीटर

दुनिया भर में corona वायरस के चलते आशंकाएं बड़ी है इसकी वजह से भारतीय रुपया भी डॉलर के मुकाबले कमजोर हुआ है कहां जा रहा है कि आने वाले दिनों में कच्चे तेल की कीमतों में और भी गिरावट आ सकती है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ