Cooking oil पर सरकार ने यह कदम उठाया?

Cooking oil पर सरकार ने यह कदम उठाया?

Cooking oil पर सरकार ने यह कदम उठाया?

 प्याज के बाद अब खाने के तेल के बढ़ते दामों को काबू सरकार बड़ा कदम उठाने की तैयारी कर रही है जानकारी केेेेे मुताबिक खाद्य तेलों पर इंपोर्ट ड्यूटी घट सकती है खानेेेे के तेलों के बढ़ते दामों को देखते हुए कंजूमर ऑफ मंत्रालय ने
बॉम oil, सोया oil और सनफ्लावर oil पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने का प्रस्ताव कॉमर्स मंत्रालय को भेजा है और कॉमर्स मंत्रालय इसे जल्द ही हरी झंडी दे सकताा है
Cooking oil पर सरकार ने यह कदम उठाया?


सोयाबीन उत्पादक राज्यों में बेमौसम बारिश और बाढ़ से फसलों को नुकसान हुआ है देश में सोयाबीन और सरसों समेत तमाम तेल के दामों में तेजी का रेट बना हुआ है देश में बढ़ती डिमांड के कारण भारत में सोयाबीन तेल का इंपोर्ट 100 गुना तक बढ़ा दिया गया है

वित्त वर्ष 2014-15 से 2016-17 तक देश में कुल रु 10-70 लाख का सोयाबीन तेल भारत में इंपोर्ट किया जाता है वहीं वित्त वर्ष 2017-18 में यह बढ़कर 1.68 करोड रुपए हो गया था साथ ही मौजूदा वित्त वर्ष में अभी तक 167 करोड़ रुपए का सोयाबीन तेल इंपोर्ट किया जा चुका है

खाद्य तेलों पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने की तैयारी पूरी हो चुकी है  इसको लेकर कंजूमर ऑफ मंत्रालय ने सरकार को प्रस्ताव भेज दिया है साथ ही कॉमर्स मंत्रालय को इंपोर्ट ड्यूटी घटाने का प्रस्ताव भेज दिया गया है बॉम आयल, सोया आयल और सनफ्लावर ऑयल पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने का प्रस्ताव भेजा गया है


बॉम आयल पर 5% इंपोर्ट ड्यूटी घट सकती है जबकि सोया आयल और सनफ्लावर ऑयल पर 10% इंपोर्ट ड्यूटी घट सकती है आपको बता दें कि पिछले 2 या 3 महीनों से लेकर खाद्य तेलों में 25 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हो चुकी है तो उम्मीद है कि खाने के तेलों के दाम प्याज के दामों की तरह आसमान तक ना पहुंचे सरकार इन से पहले ही खाद्य तेलों के रेट को कंट्रोल कर ले

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ