CAA पर बात करने का हक european union को किसने दिया

CAA पर बात करने का हक european union को किसने दिया

CAA पर बात करने का हक european union को किसने दिया!

european union नागरिकता संशोधन कानून पर बहस करेगी, बहस के बाद गुरुवार को इस पर वोटिंग होगी
इसका मुद्दा की european union की ओर से CAA के खिलाफ लाया गया प्रस्ताव है
european union India CAA

इस प्रस्ताव में european union समूह के 5 सदस्य CAA और NRC के खिलाफ है प्रस्ताव में भारत की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मुद्दे का भी उल्लेख किया गया है जबकि छठवां समूह भारत के समर्थन में खड़ा नजर आ रहा है इस पूरे माहौल के बीच भारत ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है

भारत में european union से कहां है-

यह हमारा आंतरिक मामला है इस कानून को संसद में सार्वजनिक बहस के बाद उचित प्रतिक्रिया और लोकतांत्रिक माध्यमों द्वारा अपनाया गया है

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला भी इस पर प्रतिक्रिया दी और कहा- विधानमंडल का दूसरे विधान मंडल द्वारा फैसला देना सही नहीं है, इस चलन का स्वार्थों द्वारा दुरुपयोग किया जा सकता है

european union के कुछ सदस्यों ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रस्ताव तैयार किया है सांसदों के इस प्रस्ताव के खिलाफ भारत कड़ी प्रतिक्रिया जता चुका है और वही उसे फ्रांस का भी साथ मिला है

फ्रेंच राज नायक से मिले सूत्रों ने बताया कि यह भारत का आंतरिक मामला है यह बात हम कई मौकों पर कह चुके हैं apko बता दे फ्रांस का बयान इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि वह यूरोपीय देश का संस्थापक सदस्य है

Post a Comment

0 Comments