America और iran में एलान ए जंग! China,india और russia किसके साथ?

America और iran में एलान ए जंग! China,india और russia किसके साथ?

America और iran युद्ध में india,china और russia किसके साथ?


America और iran में संबंध पहले भी खराब रहे हैं लेकिन इस बार दोनों खेमों में ज़िद और सनक ज्यादा है

America की सैन्य ताकत के आगे iran कहीं भी नहीं ठहरता लेकिन जंग शुरू होती है तो न सिर्फ मध्यपूर्व बल्कि पूरी दुनिया को चपेट में ले सकती है' America ने iraq में रहने वाले अमेरिकी नागरिकों को iraq छोड़ने के लिए कह दिया है बड़ी संख्या में मिडिल ईस्ट में अमेरिकी सैनिकों को रवाना कर दिया है अमेरिकी युद्धपोत iraq की ओर बढ़ रहे हैं america के साथ ब्रिटेन ने भी अपने मध्य पूर्व अड्डों की सुरक्षा बढ़ा दी है

America और ईरान के बीच जंग होने की सूरत में मध्यपूर्व पूरी तरह से बटा हुआ नजर आ रहा है कौन किस खेमे के साथ रहेगा यह कोई अभी निश्चित नहीं लग रहा है

राजनीतिक समीकरण के अनुसार-



Iran ke पूर्व में पाकिस्तान और अफगानिस्तान है यहां अमेरिका का खासा दबदबा है लेकिन इसमें अभी शक है कि दोनों देश अपनी जमीन का इस्तेमाल ईरान के ख़िलाफ़ होने देंगे या नहीं ,वहीं iran के पश्चिम में अभी iraq में अमेरिका का खासा दबदबा है अमेरिकी फौजी टुकड़ी इराक में सक्रिय है इसके साथ कुवैत में भी अमेरिकी फौज की तैनाती है लेकिन ईरान के साथ जंग की सूरत पर क्या होगा यह देखना अभी बाकी है

हालांकि अमेरिका को दो देशों का साथ मिलने की सबसे अधिक संभावना है
1. सऊदी अरब जहां ईरान का सबसे घोषित दुश्मन है वही अमेरिका का सबसे भरोसेमंद दोस्त, ऐसे में सऊदी अरब का अमेरिका के साथ जाने की संभावना है!

2. इजराइल ने हर हाल में अमेरिका का साथ देने का पहले से ही ऐलान कर दिया है इजरायल के प्रधानमंत्री ग्रीस का दौरा बीच में छोड़कर लौट चुके हैं

इजरायल के प्रधानमंत्री ने कहा-


कासिम सुलेमानी अमेरिकी नागरिकों और कई दूसरे निर्दोष लोगों की मौत का जिम्मेदार था, वह और हमले की साजिश रच रहा था प्रभावी और निर्णायक कदम के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को इसका श्रेय जाता है शांति, सुरक्षा और आत्मरक्षा के लिए इजरायल अमेरिका के साथ खड़ा है

 India के america और iran दोनों के साथ अच्छे संबंध है ऐसे में india के सामने अजीब से हालात हैं अमेरिका और ईरान के टकराव से कच्चे तेल की कीमत में 4 फ़ीसदी के उछाल से india में मुश्किलें और बढ़ गई हैं हालात बिगड़ने पर रूस और चीन जैसी महा शक्तियों का रुख तय करेगा कि जंग कितनी भयानक शक्ल अख्तियार करेगी

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ