Citizenship Amendment Bill: असम के 10 जिलों में 48 घंटों के लिए इंटरनेट सेवा बंद; गुवाहाटी में पुलिस गोलीबारी में दो प्रदर्शनकारियों की मौत:

Citizenship Amendment Bill: असम के 10 जिलों में 48 घंटों के लिए इंटरनेट सेवा बंद; गुवाहाटी में पुलिस गोलीबारी में दो प्रदर्शनकारियों की मौत:

नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर भारत के पूर्वोत्तर राज्य asam में हिंसा की स्थिति बिगड़ती जा रही है .असम के कई शहर में हिंसा की घटनाएं हुई है, कई इलाकों में पुलिस और प्रदर्शनकारी की भी भिड़ंत हुई है Dibrugarh में कर्फ्यू की परवाह किए बिना सड़कों  पर निकले प्रदर्शनकारियों पर पुलिस फायरिंग हुई है! Diburugarh के पुलिस अधीक्षक गौतम bora नहीं बताया कि पुलिस को इसलिए फायरिंग करनी पड़ी क्योंकि प्रदर्शनकारी काफी उग्र हो गए थे और पुलिस पर हमला कर रहे हैं स्थानीय पत्रकार ......  के मुताबिक स्थानीय लोगों को गोली लगी ,घायलों को कई अस्पतालों में भर्ती कराया गया है Guwahati समेत राज्य के अन्य इलाकों में इंटरनेट सेवा बंद करा दी गई है asam के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय कृष्ण ने कहा है कि यह प्रतिबंध आज शाम 6:00 बजे तक के लिए ही है इसका असर सभी मोबाइल के डाटा कंपनी और मोबाइल कंपनियों पर भी पड़ा है' इंटरनेट पूरी तरह बंद है कई इलाकों में इंटरनेट बंद होने के बावजूद भी प्रधानमंत्री मोदी ट्वीट कर यकीन दिलाया है कि असम के लोगों को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है



ट्वीट में मोदी ने क्या कहा:

अपने ट्वीट में मोदी ने कहा कि कोई भी अधिकार आपकी पहचान और आपकी सुंदर संस्कृति को नहीं ले सकता है मैं असम के बहनों और भाइयों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि उन्हें नागरिकता विधेयक से चिंतित होने की जरूरत नहीं'

इससे पहले वहां के आक्रोशित लोगों ने RSS दफ्तर में तोड़फोड़ की और वहां आगजनी की कोशिशें की. Guwahti मैं सेना की दो टुकड़ियों फ्लैग मार्च कर रही है, dibrugarh me भी सेना तैनात की गई है 

 स्थानीय मीडिया में यह खबर है कि कश्मीर के 5000 जवान असम  पूर्वोत्तर राज्य में भेजे जा रहे हैं guwahti के कमिश्नर दीपक कुमार ने बताया कि कर्फ्यू के दौरान जरूरी सेवाओं को प्रतिबंधित नहीं किया गया है. एंबुलेंस, मीडिया और विशेष आवश्यकताओं घरों से निकले लोगों को पुलिस नहीं रोक रही है', असम के हिंसा के बीच बुधवार को यह विधेयक राज्यसभा से भी पारित हो गया. राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद यह विधेयक कानून बन जाएगा!

Dibrugarh मैं भी कर्फ्यू लगा दिया गया है वहां के प्रदर्शनकारी वहां के मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री के घर को निशाना बनाया, मुख्यमंत्री के घर पर पथराव किया गया और केंद्रीय मंत्री के घर पर आगजनी की कोशिश की गई. असम में जाने वाली कई ट्रेनें या तो रद्द कर दी गई हैं या फिर उनका रास्ता change कर दिया गया है! बुधवार रात प्रदर्शनकारियों ने dibrugarh के 1 जिले चाबुआ के स्टेशन में आग लगा दी .असम के अलावा पड़ोसी त्रिपुरा में असम राइफल के जवानों को तैनात किया गया है, त्रिपुरा में भी सेना की दो टुकड़ियों तैनात की गई है .गुरुवार को त्रिपुरा में विपक्षी कांग्रेस ने बंद का आवाहन किया है आक्रोशित लोगों ने गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुतले फुके और दर्जनों जगह पर आगजनी करके सड़क को जाम कर दिया इस कारण कई किलोमीटर तक कई गाड़ियों की कतारें लग गई

जिसके कारण पुलिस को वहां पर लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए इसके बावजूद भी लोगों का गुस्सा कम नहीं हुआ, और प्रदर्शनकारियों की भीड़ लगातार बढ़ती चली गई
लोगों ने फ्लाईओवर पर रखे गमले तोड़ दिए और पास की खुली दुकानों पर पत्थरबाजी की, शाम होने के बाद हालात और बिगड़ गए और ऐसा लगा कि शहर में आग लगी हुई है!

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ