India will become arms dealer !

India will become arms dealer !

  India will become arms dealer!

भारत बनेगा हथियारों का सौदागर

दुनिया में हथियार बनाने वाली मात्र 10 ही कंपनियां हैं जिनमें से पांच तो केवल अमेरिका की है यह 10 कंपनियां पूरी दुनिया में हथियार सप्लाई  करती है भारत इन हथियार खरीदने वालों में चौथे पायदान पर है और सऊदी अरेबिया पहले स्थान पर है और हथियार बेचने के मामले में अमेरिका सबसे आगे है लेकिन अब भारत भी हथियार बनाने वाले देशों की राह में चल पड़ा है





दरअसल भारत अपनी रक्षा जरूरतों के साथ  हथियारों की विदेशी निर्भरता को कम करने और रक्षा उपकरणों का बड़ा निर्यातक देश बनने की दिशा में कदम बढ़ा रहा है

इसके तहत भारत अगले 5 सालों में 250 डिफेंस स्टार्टअप को फंडिंग करेगा इससे भारतीय सुरक्षा तकनीकी को नई फंडिंग मिलेगी इसके लिए 500 करोड़ रुपए का एक फंड बनाया जाएगा इसको रक्षा मंत्रालय अपने Innovations for Defence Excellence यानी idex पहल के अंतर्गत खर्च करेगा यह फंड इन स्टार्टअप को आवंटित किया जाएगा जो डिफेंस सिस्टम में नई तकनीक को आगे बढ़ाने की कोशिश करेंगे

India हथियार खरीदने में कहां है और कौन Desh बेचने में आगे है

सऊदी अरेबिया हथियार खरीदने के मामले में Top देश में आता है एक Report के मुताबिक भारत की दुनिया में हथियार खरीदने की हिस्सेदारी 12% है 2008 से 2013 की तुलना में भारत में 2013 से लेकर 2017 के बीच 24% ज्यादा हथियार खरीदे हैं! इस Report के अनुसार सबसे ज्यादा हथियार खरीदने के मामले में सऊदी अरब सबसे आगे है



बात करें अपने भारत की तो भारत ने 2013 से लेकर 2017 तक सबसे ज्यादा हथियार रूस से खरीदें कुल खरीदे गए हथियारों में से रूस से खरीदे गए हथियारों की 62% फीसदी है! इसके बाद अमेरिका से 15 फ़ीसदी और इजराइल से 11 o/o हथियार खरीदे!

 अमेरिका से हथियार खरीदने के पीछे दो वजह है
1. China से मुकाबले के लिए खुद को तैयार करना
2. अमेरिका से रिश्ते को बेहतर करना

एशिया में चीन का दबदबा कम करने के लिए अमेरिका भारत का साथ दे रहा है इसका नतीजा यह है कि 2008 से लेकर 2012 की तुलना में 2013 से लेकर 2017 में भारत ने अमेरिका से काफी हथियार खरीदे हैं इस दौरान अमेरिकी हथियार खरीदी में लगभग 57 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई है

हथियार बेचने वाले देशों में अमेरिका Top पर है उसके बाद रूस फ्रांस और जर्मनी है चीन पांचवें नंबर पर है चीन सबसे ज्यादा हथियार पाकिस्तान को  बेचता है देखा जाए तो भारत के आसपास प्रतिद्वंद्वियों की कमी नहीं है


दुनिया को हथियार बेचने वाली Top कंपनियां

1. लॉकहेड मार्टिन (अमेरिका)- इस कंपनी ने बीते साल 2017 में 40.83 अरब डॉलर का व्यापार किया और 2018 में 44.92 अरब डालर का व्यापार किया यह कंपनी एयरक्राफ्ट से लेकर मैरिटाइम सिस्टम  नेवी तक को अपनी सेवाएं देती है

2. बोइंग (अमेरिका)- दुनिया की सबसे बड़ी विमान कंपनी बोइंग हथियार बेचने के मामले में दूसरे नंबर पर है 2017 में इसने 29.51 अरब डॉलर का व्यापार किया और सैन्य सेवाओं का भी व्यापार किया जबकि 2018 में 26.93अरब डॉलर का व्यापार किया इसके प्रमुख उत्पादों में AH-6 लाइट अटैक हेलीकाप्टर,AH64 अपाचे हेलीकॉप्टर
F-15 जेट और मिसाइलें भी शामिल है

3. रेथियॉन( अमेरिका)- यह मिसाइल डिफेंस सिस्टम, तारपीडो और कॉम्बैट डिफेंस सिस्टम तैयार करती है इस कंपनी ने बीते साल 22.9 एक अरब डॉलर का व्यापार किया है जबकि 2018 में 23.87 अरब डालर का व्यापार किया है

4. बे सिस्टम( यूनाइटेड किंगडम)- यह दुनिया की सबसे अधिक हथियार बनाने वाले कंपनी में शुमार है इसकी यूनाइटेड किंगडम वाली ब्रांच ने बीते साल 2018 में 22.94 अरब डॉलर कमाए! एयरक्राफ्ट अपग्रेड से लेकर नेवी कैसेट की डिजाइनिंग और मैन्युफैक्चरिंग सब कुछ  करती है

5. नॉर्थरोप ग्रुम्मन (अमेरिका)- एयरक्राफ्ट ,हाई एनर्जी इन लेजर सिस्टम और स्पेसक्राफ्ट तक बनाती है दुनिया को यह कंपनी रेडार  टेक्नोलॉजी भी बेचती है! इस साल कंपनी ने 22.37 अरब डॉलर का व्यापार किया

6. जनरल डायनामिक्स (अमेरिका)- जनरल डायनेमिक ने 2017 में  19.23 अरब डॉलर का व्यापार किया 2019 में इस कंपनी ने 19.46 अरब का व्यापार किया यह दुनिया की छठी सबसे ज्यादा हथियार बेचने वाली कंपनियां है रॉकेट से लेकर बंदूक तक, युद्ध में इस्तेमाल होने वाले छोटे जमीनी वाहन और कमांड कंट्रोल सिस्टम इस कंपनी में बनाए जाते हैं

7 एयरबस (यूरोप)- एयरबस ने  इस साल 11.29 अरब डालर का व्यापार किया जो बीते साल 12.59 अरब डॉलर की तुलना में कम है

8. थेल्स (फ्रांस)- इस कंपनी का नाम दुनिया की टॉप-10 हथियार बनाने वाली कंपनी में शुमार है इस साल कंपनी ने 9 अरब डॉलर का व्यापार किया है सर्विलेंस सॉल्यूशन से नेविगेशन और कम्युनिकेशन तक की सेवाएं दी है 

9. यूनाइटेड टेक्नोलॉजी (अमेरिका)- यह कंपनी हथियारों से अपनी बिक्री का 16% निकालती है यूनाइटेड टेक्नोलॉजी ने इस साल 9.6 अरब डालर का व्यापार किया यूनाइटेड टेक्नोलॉजी का सबसे प्रसिद्ध हथियार ब्लैक हॉक हेलीकॉप्टर है

10. अलमाज एंटे (इटली)- इस कंपनी ने बीते साल 8.97 अरब डालर का व्यापार किया
 इन सब देशों के मुकाबले में भारत फिलहाल कहीं नहीं है लेकिन हथियार बनाने वाले देशों की लिस्ट में भारत का भी नाम आ सकता है
जय हिंद


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ