डॉ प्रियंका रेड्डी हत्याकांड : आखिर कब तक जलाई जाती रहेंगी देश की बेटियां !

डॉ प्रियंका रेड्डी हत्याकांड : आखिर कब तक जलाई जाती रहेंगी देश की बेटियां !

 नमस्कार

प्रियंका रेड्डीज के बारे में आपको बताऊं इससे पहले मैं आपको एक नेता जी के बारे में बोलना चाहता हूं जो हैदराबाद के हैं उन्होंने एक शर्मसार बात कही है जो आपके समक्ष में रखना चाहता हूं हैदराबाद के एक मंत्री जी ने कहा है कि प्रियंका जी को अपनी बहन को फोन नहीं करना चाहिए था बल्कि पुलिस को फोन करना चाहिए था वह पढ़ी-लिखी  अगर वह पुलिस को फोन करती तो बच जाती ऐसा मंत्री साहब ने कहा है मंत्री साहब को मेरा जवाब यह रहेगा कि प्रियंका रेड्डी जी यह नहीं जानती थी कि वहां पर इंसान के नाम पर कुत्ते हैवान बैठे हैं और इंतजार कर रहे हैं कि कोई मांस आए तो हम खा ले उसे प्रियंका रे टीवी अभी नहीं जानती थी कि वह लोग आएंगे और कहेंगे कि आपकी स्कूटी खराब हो गई है तो आपकी हम मदद कर देंगे और उसको ले जाकर उसका रेप कर देंगे और उसकी बॉडी को नहीं उसको जिंदा जला देंगे



मंत्री जी को जवाब देने के बाद मैं फिर से एक बार कहानी दौरा देता हूं क्योंकि आप तक मेरी बात पहुंचने चाहिए. हम जिस पुरुष प्रधान देश वहां लड़कियां घर में मदद करती है घर में मां का साथ देती है खाना बनाने में और हर काम करने में सांप को अभी चाहती हैं और ऑफिस से आते समय अगर रात हो जाती है तो वह लिफ्ट मांग कर किसी के साथ बैठ नहीं सकती हैं और अगर शायद स्कूटी खराब हो जाए तो वह लड़की आपको दोबारा नहीं मिलेगी

प्रियंका रेड्डी जी के साथ भी यही हुआ 27 नवंबर को वह अपने हॉस्पिटल से आ रही थी वह जानवरों की डॉक्टर थी उनका स्कूटी पहले से ही पंचर था वहां कुछ लोग खड़े थे उन्होंने मदद के लिए बोला और कहा कि हम आपकी स्कूटी ठीक करवा देंगे प्रियंका रेड्डी जी ने कहा ठीक है इस दौरान उनको कुछ अजीब लगा तू भाई अपनी बहन भाव्या जी को फोन किया फोन में प्रियंका जी यह कहती हैं

यह जो मैं आपको बता रहा हूं यह पुलिस में ऑन रिकॉर्ड दर्ज है प्रियंका रेडी अपनी बहन से कहती हैं यहां पर कुछ लोग हैं जो अजीब तरह के हैं इनसे मुझे डर लग रहा है हालांकि इन लोगों ने मुझे मदद के लिए ऑफर किया है और मैं अपना स्कूटी बनवाने जा रही हूं प्रियंका की बहन ने कहा कि तुम कैब करके आ जाओ स्कूटी वहीं छोड़ दो प्रियंका ने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है मैं बनवा कर ही आऊंगी और उसके 20 मिनट बाद प्रियंका का फोन बंद हो जाता है और उसके बाद शमशाद नगर में पुलिस को अर्जी दी जाती है रिपोर्ट लिखवाई जाता है गुम सोती का रिपोर्ट लिखवाया जाता है फिर पुलिस तलाश कर दिया और उसके बाद उसकी जली हुई  सव मिलता है अग्न नंद
 100 मीटर की दूरी पर शराब की बोतलें और स्कूटी भी मिलती है पर उस पर नंबर प्लेट गायब रहता है ट्विटर पर फेसबुक पर इंस्टाग्राम पर हर सोशल मीडिया पर # प्रियंका रेड्डी ट्रेंड कर रहा है कोई मदद की मांग कर रहा है तो कोई इसे हिंदू मुस्लिम एंगल देने की बात कर रहा है

लेकिन जो सवाल लोग नहीं पूछ रहे हैं आखिर यह इतनी असुरक्षा क्यों आखिर यह सवाल क्यों लोग नहीं पूछ रहे हैं कि जो देश जहां 130 करोड़ आबादी है वह हर रोज 70 रेप होते हैं जिसे हम रोज लिखते नहीं हैं यह सवाल पूछा जाना बहुत जरूरी है

प्रियंकर reddy कि बहन भाव्या ने यह कहा कि 6 मिनट की बातचीत में प्रियंका बहुत डरी हुई थी और उसे यह लग रहा था कि उसके साथ जो अपरिचित लोग हैं वह उसके साथ हिंसा व कुछ गलत कर सकते हैं फिर भी उन्होंने अपना स्कूटी बनवाना सही समझा क्योंकि आगे से मदद उन्होंने ही ऑफर की थी

Update यह है कि चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है मैं नाम तो आपको नहीं बताऊंगा क्योंकि आप भी उस में हिंदू-मुस्लिम ढूंढने लगेंगे मैं सिर्फ यह कह रहा हूं कि उन चारों को जिन को गिरफ्तार किया गया है उनको लटकाना चाहिए या कानून के तहत प्रावधान करना चाहिए बात की बात है लेकिन उनका नाम मीडिया को जगजाहिर करना बंद कर देना चाहिए क्योंकि सोशल मीडिया में फिर से हिंदू मुस्लिम कार्ड खेलना चालू हो जाएगा

प्रियंका रेड्डी जी के बारे में कुछ बातें

प्रियंका रेड्डी जी की उम्र 26 साल थी उनको जानवरों से बहुत प्यार था प्रियंका रेड्डी जी अपने बचपन की पढ़ाई शमशाद नगर अपने होमटाउन से ही उन्होंने किया था और वह पीवी नरसिम्हा राव तेलंगना वेटरनरी यूनिवर्सिटी से उन्होंने अपना ग्रेजुएशन किया था और 1 साल तक उनको जानवरों से इतना प्यार था कि वह ट्रेनिंग किया और बकायदा एक उलूरू गांव है वह चाहती तो कहीं और प्लेसमेंट ले सकती थी लेकिन वह कुलुरु गांव में हॉस्पिटल में जाती थी जानवरों को देखने वहां अस्पताल स्थित था उस अस्पताल की स्थिति आप इस तरह भी जान सकते हैं कि टोल प्लाजा में प्रियंका रेड्डी को अपना स्कूटी लगाकर फिर दूसरी बस लेकर वहां उनको जाना पड़ता था क्योंकि वहां जाने में कुछ प्रॉब्लम थी वह स्कूटी लेकर वहां जा नहीं पाती थी स्कूटी टोल प्लाजा पर रोज खड़ी रहती थी जांच में यह भी सामने आया है

 जो लोरी ट्रक के ड्राइवर वहां खड़े थे जिन्होंने मदद के लिए ऑफर किए थे हो सकता है वहीं कातिल भी हो क्योंकि मैं अभी यह नहीं कह सकता कि वह है एंड जस्टिस नहीं दे सकता! तो वो लोग पहले से ही प्रियंका जी को देख रहे थे उनका पहले से ही प्लान था और स्कूटी उन्हीं लोगों ने पहले से ही पंचर कर रखा था ऐसा मीडिया में चल रहा है और पुलिस के बयान के मुताबिक जब प्रियंका रे टीआई उन्होंने उसे मदद का ऑफर दिया और उनको मार दिया

प्रियंका रेड्डी की बहन जब मीडिया के सामने आई तो वह रोने लगे उन्होंने कहा ऐसा नहीं होना चाहिए था जब निर्भया केस हुआ था तब सोशल मीडिया में हेस्टैक निर्भया चला था कैंडल लेकर लोग निकले थे फिर माहौल कुछ दिन बाद शांत हो गया निर्भया के किसी भी कातिल को अब तक फांसी नहीं दी गई है फांसी की डेट का ऐलान हुआ या नहीं हुआ यह निजी तौर पर मुझे नहीं पता लेकिन निर्भया चली गई प्रियंका रेड्डी भी चली गई और कितनी बहने जाएंगी जरूरत इस बात की है कि इस पुरुष प्रधान देश में जहां हम रहते हैं लोगों की सोच बदलने की जरूरत बहुत ही है

इन्हीं शब्दों से मैं अपनी वाणी को विराम देता हूं आशा करता हूं कि आप लोग मेरी इन बातों को समझेंगे!



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ