प्राइवेट नौकरी वालों के लिए खुशखबरी Newsbulletin

प्राइवेट नौकरी वालों के लिए खुशखबरी Newsbulletin

प्राइवेट नौकरी वालों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी

सेंट्रल goverment जल्द ही नौकरी पेशा लोगों को खुशखबरी दे सकती है
Goverment सोशल सिक्योरिटी आप ग्रेट्यूटी कोट्स मैं बदलाव करने के लिए जल्दी तैयार है इस बदलाव के तहत कोई भी कर्मचारी किसी भी कंपनी में 1 साल काम करता है तो वह gratuity पाने का हकदार होगा जबकि अभी gratuity पाने का हकदार उसी को मिलता है जिसने लगातार पांच साल कंपनी में काम किया हो केंद्र सरकार इस बिल के संसोधन लिए शीतकालीन सत्र में पेश करने की योजना बना रही है


इसे नौकरीपेशा vrag के लोगों के लिए बड़ी राहत माना जा रहा है अगर केंद्र सरकार यह फैसला लेती है और बिल पास हो जाता है तो नौकरी पेशा के worker को बहुत बड़ी राहत मिल सकती है प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों को काफी सहूलियत होगी जो लोग 5 साल से पहले अपनी नौकरी बदल देते हैं नए नियम के बाद 1 साल के बाद बदलने पर उन्हें gratuity मिलेगी

आपकी जानकारी के अनुसार gratuity उन्हीं लोगों को मिलती है जो कंपनी में लगातार 5 साल तक काम करते हैं 5 साल से पहले नौकरी छोड़ने पर gratuity नहीं मिलती है ऐसे में सरकार के 5 साल की gratuity को घटाकर 1 साल कर सकती है इससे प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों को बड़ी सहूलियत होगी जो 5 साल से पहले नौकरी बदल देते हैं


Gratuity क्या है

अगर बात करें gratuity की gratuity किसी कंपनी की वफादारी के तौर पर देखी जाती है gratuity आपके सीटीसी का हिस्सा होती है इसकी अधिकतम सीमा 20 लाख होती है वैसे तो इसे हासिल करने में किसी कंपनी में 5 साल तक काम करना पड़ता है लेकिन कुछ खास परिस्थितियों में जैसे कर्मचारी की मृत्यु, दुर्घटना, विकलांग होने पर 5 साल से पहले दे दी जाती है

Gratuity का पैसा उसके नॉमिनी को दिया जाता है gratuity की रकम कर्मचारी की सैलरी और काम करने वाले के समय पर बेस्ट होती है gratuity की गिनती में बेसिक salery महंगाई भत्ता और कमीशन को मिलाया जाता है gratuity का पैसा सैलरी और उस कंपनी में काम किए गए सालों पर निर्भर होता है


राष्ट्रीय स्वयंसेवक के संघ मजदूर संगठन भारतीय संघ के महासचिव बृजेश उपाध्याय के मुताबिक gratuity किस समय को 5 साल से घटाकर 1 साल करना चाहिए क्योंकि कई संगठनों में 80% तक worker ठेके में काम कर रहे हैं अब संसद के शीतकालीन सत्र में इस पर मंजूरी मिलती है कि नहीं यह देखना दिलचस्प होगा
धन्यवाद


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ